‘मेला’ फिल्म के इस दमदार विलेन ‘गुज्जर’ की अब हो गई है ऐसी हालत, तस्वीरें उड़ा देगी आपके होश!

- in ज़रा-हटके, मनोरंजन

यूँ तो आप आये दिन फ़िल्मी जगत की चम-चमाती दुनिया की हसीनाओं और अपने स्टालिश लुक से दीवाना कर देने वाले अभिनेताओं के बारे में तो सुनते ही हैं. आज आपको ऐसे कई सितारें मिल जाएंगे जो लोगों के दिलों पर हर वक़्त छाए रहते हैं लेकिन इसी लिस्ट में कुछ बॉलीवुड के धुरंधर विलेन भी शामिल हो जाते हैं जिनकी धाकड़ आवाज सुनने के लिए लोग एक फिल्म कई बार देख लेते हैं. उनके जानदार डायलॉग को लेकर सालों बाद भी लोग उन्हें याद करते हैं ऐसा ही बॉलीवुड का एक वीलेन हैं जिसकी जानदार आवाज ने फिल्म “मेला” में धमाल मचा दिया था.लेकिन सालों बाद आज इस वीलेन को देखकर आप अपनी आँखों पर यकीन नहीं कर पायेंगे.

मेला फिल्म का “गुज्जर” फिल्म के हीरों से ज्यादा फेमस हुआ था

बता दें कि मेला फिल्म के विलेन टीनू वर्मा, जिन्होंने अपने दौर की उस सुपरहिट फिल्म में गुज्जर नाम के विलेन का रोल निभाया था जो लोगों को बहुत पसंद भी आया था. साल 2000 मे रिलीज हुई मेला फिल्म से टीनू वर्मा ने देशभर में एक हीरो से ज्यादा सुर्खियां बटोर ली थी. उस दौरान उनका किरदार गुर्जर इस कदर लोगों पर छाप छोड़ने में कामियाब हो गया था कि भारत के ज्यादातर घरों में लोग गुज्जर नाम बोलकर हंसी मजाक करने लगे थे. मेला फिल्म में उनकी जबरदस्त एक्टिंग ने लोगों का न केवल दिल जीता था बल्कि लोगों को रियल जिन्दगी में भी इस विलेन से डर लगने लगा था.

गुज्जर जैसे धाकड़ लुक के लिए पहंचाने जाने वाले टीनू अब दिखते है ऐसे

जी हाँ ! सन् 1993 में फिल्म आंखे से बॉलीवुड में डेब्यू करने वाले टीनू वर्मा ने एक के बाद एक सुपरहिट फिल्म दी जैसे मेला, सौतन, हिम्मत और मां तुझे सलाम, आदि. इन सुपरहिट फिल्मों में टीनू  की जबरदस्त एक्टिंग दुनियाभर में छा गई लेकिन हाल ही में जो उनकी तस्वीरें सामने आई उसे देख लोग हैरान रह गये क्योंकि अपने गुज्जर जैसे धाकड़ लुक के लिए पहंचाने जाने वाले टीनू अब बेहद बिंदास लुक में दिखाई देते हैं.

शारीरिक सम्बन्ध बनाने के लिए पोर्न देखना कितना हैं जरुरी, इस पोस्ट को पढ़कर आप भी जाने…

पर्दे पर विलेन का किरदार निभाने वाले कलाकार असल में होते है बिलकुल अलग

किसी फिल्म को सुपरहिट होने के लिए जितनी जरुरत एक हीरो की होती है उतनी ही जरुरत फिल्म में एक विलेन की भी होती है क्योंकि जब तक फिल्म में कोई लड़ाई-झगड़ा न हो वो फिल्म इतनी उठ नहीं पाती है. ऐसा भी जरुरी नहीं होता कि पर्दे पर लोगों की नजर में नकारात्मक किरदार निभाने वाले हर विलेन अपनी रियल लाइफ में भी विलेन ही हो. बल्कि ये लोग तो केवल हमारे मनोरंजन के लिए विलेन के रोल को निभाते हैं. शायद इसलिए ही कई फिल्मे केवल अपने विलेन और उसके द्वारा बोले गये डायलॉग के बल पर ही चलती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

ईशा अंबानी की सगाई में छाया बॉलीवुड की इस अभिनेत्री का जादू…

फिल्म धड़क के जरिए बॉलीवुड में डेब्यू करने