Home > धर्म > भगवान करे किसी के हाथ मे न हो ये निशान केवल 2% लोगो के हाथ मे होते है ये निशान..!!

भगवान करे किसी के हाथ मे न हो ये निशान केवल 2% लोगो के हाथ मे होते है ये निशान..!!

हथेली में कई प्रकार की रेखाएं होती हैं जिनमें भाग्य रेखा, हृद्य रेखा, जीवन रेखा, विवाह की रेखा आदि प्रमुख हैं। इसके अलावा हथेली पर कुछ शुभ-अशुभ चिह्न भी होते है। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हमारी हथेली पर ऐसे कई निशान होते हैं जो छोटी-छोटी रेखाओं के मिलने या टकराने से बनते हैं। इनमें कुछ निशान हमें शुभ फल प्रदान करते हैं, किंतु कुछ बेहद अशुभ होते हैं। ‘एम’ अक्षर का निशान या ‘स्टार’ और कुछ खास स्थितियों में ‘चक्र’ का निशान जहां हथेली के कुछ शुभ निशानों में माने जाते हैं, वहीं कुछ ऐसे निशान भी हैं जो हर परिस्थिति में बेहद अशुभ स्थितियां लाते हैं। आज हम आपको हथेली के एक ऐसे अशुभ निशान ‘क्रॉस’ के बारे में बताने जा रहे हैं।भगवान करे किसी के हाथ मे न हो ये निशान केवल 2% लोगो के हाथ मे होते है ये निशान..!!

कई बार दो रेखाएं जब आकर एक-दूजे के साथ कटती हैं, तब यह निशान बनता है। यूं तो हमारे हाथ में अनगिनत रेखाएं होती हैं जो क्रॉस का निशान बनाती हैं, लेकिन असल में अशुभ क्रॉस निशान कौन सा है और किस स्थान पर बनता है, आज हम आपको इसके बारे में बताएंगे। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हथेली पर बना क्रॉस का निशान मुसीबत, निराशा, खतरा और कभी-कभी जीवन में संकट का संकेत देता है। क्रॉस के लक्षण विभिन्न पर्वतों और रेखाओं की स्थिति पर निर्भर करते हैं।

हथेली पर जहाँ कई निशान और चक्र सुभ संकेत देते है वहीं कुछ निशान बेहद अशुभ फल देते है!आज हम आपको हथेली में ऐसे अशुभ निशान क्रॉस के बारे में आपको बताने जा रहे है!जो आपको अशुभ फल प्रदान करती है!अक्सर हम देखते है की जब दो रेखाए एक दुसरे को काटती है जैसा की निचे चित्र में दिखया गया है की यह क्रॉस का निशान मुसीबत निराशा खतरा और कभी मनुष्य पर आने वाले खतरे का निशान का बनता है!क्रॉस के लक्षण हथेली पर अनेको प्रकार के पर्वतों और रेखाओ पर निर्भर करते है!

 

Loading...

Check Also

ये ग्रह दोष दिलाते हैं आपको भयानक बीमारियां

ये ग्रह दोष दिलाते हैं आपको भयानक बीमारियां

किसी भी व्यक्ति के जन्म लेने के साथ ही उस पर ग्रहों का प्रभाव पड़ …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com