दिल्ली में स्कूल प्रिंसिपल की हत्या, हरियाणा में मिला भाई का शव

- in अपराध

दिल्ली के नजफगढ़ के घुम्मनहेड़ा गांव में स्कूल की प्रिंसिपल और उसके भाई की हत्या कर दी गई है. मृतका की पहचान अनिता यादव के रूप में हुई है. वह 8वीं तक का स्कूल चलाती थी. स्कूल की इमारत के उपर ही उनका आवास था. हत्या की यह वारदात सोमवार की रात 10 बजे हुई है. अनिता के भाई का शव आज तड़के हरियाणा में मिला है.

दिल्ली में स्कूल प्रिंसिपल की हत्या, हरियाणा में मिला भाई का शव

 

जानकारी के मुताबिक, अनिता ने नवीन नामक एक शख्स से करीब दो साल पहले जमीन ली थी. उस जमीन को लौटाने के लिए नवीन दबाव दे रहा था. अनिता का कहना था कि जमीन लिए उन्हें जितने दिन हुए, उसके हिसाब से उसकी कीमत मिलने के बाद ही वह उसे वापस करेंगी. इसे लेकर नवीन और अनिता के बीच काफी से विवाद चल रहा था. बताया जा रहा है कि हो सकता है कि पहले अनिता के भाई की गोली मारकर हत्या की गई होगी फिर रात में अनिता को घर में गोली मार दी गई. संदिग्ध आरोपी नवीन अभी फरार है. छावला थाने की पुलिस सहित जिले की कई टीम आरोपी की धड़-पकड़ के लिए लगी हुई है. नवीन पर ही वारदात को अंजाम देने का शक है.

पुलिस द्वारा पीड़ित परिवार को ही हिरासत में लेने पर नाबालिग ने किया आत्मदाह

डीसीपी द्वारका सिबेश सिंह ने इस मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि अनिता की हत्या दिल्ली में हुई है. लेकिन उसके भाई का शव हरियाणा में मिला है. मृतकों के परिजनों की तहरीर पर केस दर्ज करके इस मामले की सारे एंगल से जांच की जा रही है. प्रारंभिक रूप से नवीन को संदिग्ध मानकर उसकी तलाश की जा रही है. देश की राजधानी दिल्ली में अपराधी इस कदर बेखौफ है कि वह जरा सी बात पर किसी की भी हत्या करने में भी कोई परहेज नहीं करते हैं. यह मामला दिल्ली के वसंतकुंज के कुसुमपुर पहाड़ी इलाके का है. यहां पर रविवार रात अपराधियों ने एक 22 साल के युवक की गोली मारकर हत्या कर दी है. घटना के वक्त मृतक युवक अपने घर पर था.

उस इलाके का नामी बदमाश अपने साथियों के साथ उसके घर पहुंचा. उसने पहले तो मृतक के भाई के साथ किसी बात को लेकर झगड़ा किया. इसके बाद मृतक मंगल अपने भाई का बीच बचाव करने आ गया. तब अपराधी उसको गोली दिए. मंगल को गोली लगते ही बदमाश वहां से फरार हो गए. लोगों को पुलिस को सूचना दी.

You may also like

हरियाणाः नाबालिग का अपहरण कर किया गैंगरेप, दो गिरफ्तार

हरियाणा के टोहाना के एक गांव में चार