सेहत का आइना होता है आपका चेहरा, खोलता है सेहत से जुड़े कई राज

- in हेल्थ

अक्सर लोग हमारा चेहरा देखकर हमारा मूड समझ जाते हैं कि हम खुश हैं या दुखी, हम गुस्से में हैं या चिल करने के मूड में हैं। कई लोग तो चेहरा देखकर ये भी बता देते हैं कि इंसान अच्छा है या बुरा। शायद, इसीलिए कहा जाता है कि इंसान का चेहरा सीरत का आइना होता है मगर हमारा चेहरा सिर्फ सीरत का नहीं बल्कि हमारी सेहत का भी आइना होता है। माथा, आँखें, नाक, जीभ, होंठ और मुंह सभी का कनेक्शन शरीर के दूसरे अंगों से होता है। अगर उन अंगों में कुछ गड़बड़ होती है तो उसका असर चेहरे पर नजर आने लगता है।

सेहत का आइना होता है आपका चेहरा, खोलता है सेहत से जुड़े कई राज

आज हम ऐसी ही कुछ बातों के बारे में आपको बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप आइने के सामने खड़े होकर अपनी सेहत के बारे में जान सकते हैं। तो देर किस बात की है। आइए करते हैं माथे से शुरुआत। 

माथा

अगर आपके माथे पर पिम्पल्स और आड़ी लकीरें नजर आ रही हैं तो इसका इशारा पित्ताशय, लिवर की परेशानी या पाचन क्रिया में गड़बड़ी से हो सकता है। माथा शरीर के नर्वस सिस्टम और पाचनतंत्र से जुड़ा होता है।

इस तरह करें समाधान

इस परेशानी से बचने के लिए आपको स्ट्रेस से दूर रहना चाहिए और योग करना चाहिए। आपको अपने खाने में प्रोसेस्ड फूड और फैट्स की मात्रा कम करके सुबह-सुबह गुनगुने पानी में नींबू निचोड़कर पीना चाहिए।

आँखें लाल होना

किसी ऑटो इम्यून डिसीज या डिप्रेशन की वजह से आंखों का रंग लाल हो जाता है। यदि आपकी आँखों में पीलापन आ रहा है तो इसकी वजह लीवर की बीमारी हो सकती है।

 आँखों में डार्क सर्कल्स 

आँखों के नीचे डार्क सर्कल बनने के पीछे नींद में कमी, खून में आयरन की कमी और किडनी में गड़बड़ी जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

डॉक्टर से संपर्क करें

आंखों के बदलते रंग के लिए तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। आँखों की सेहत के लिए पर्याप्त नींद लें, ज्यादा पानी पियें और डार्क सर्कल्स के लिए डेयरी प्रोडक्ट्स से दूरी बनाकर रखें।

शारीरिक शोषण, शरीर और दिमाग को इस तरह बना देता है खोखला, जानकार चौंक जायेंगे

 बार-बार नाक बहना

नाक के लाल होने और बार-बार बहते रहने के पीछे हार्ट प्रॉब्लम्स, हाइ ब्लड प्रेशर या लिवर डिसऑर्डर जैसी समस्याएँ हो सकती हैं। 

मसालेदार खाने से दूरी बनाकर रखें

इस समस्या को ठीक करने के लिए खाने में फैटी एसिड युक्त एवोकैडो, अलसी, ऑलिव ऑयल जैसी चीजें शामिल करें और अल्कोहल, मसालेदार खाने से दूरी बनाकर रखें। 

 जीभ पर सफेद दाग

अगर आपको जीभ पर सफेद दाग नजर आ रहे हैं तो समझ जाइये कि आपके शरीर में टॉक्सिन्स की मात्रा बढ़ गई है।

ज्यादा से ज्यादा पानी 

शरीर में बढ़ रहे टॉक्सिन्स को कम करने के लिए आपको शरीर का डेटोक्सिफिकेशन करने की जरूरत होती है। इसके लिए ज्यादा से ज्यादा पानी और खट्टे फलों के जूस का सेवन करें।

 ठुड्डी के पास पिम्पल्स 

कई महिलाओं को पीरियड्स के दौरान ठुड्डी के पास पिम्पल्स हो जाते हैं। ऐसा उनके शरीर में होने वाले हार्मोनल इम्बैलेंस के कारण होता है।

स्ट्रेस से दूर रहना चाहिए

महिलाओं को हार्मोनल इम्बैलेंस से बचने के लिए स्ट्रेस से दूर रहना चाहिए। भरपूर नींद लेनी चाहिए और एक्सरसाइज को अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए।

 होंठ में सूजन

फूड सेंसेटिविटी, आंतो में सूजन या जलन की वजह से होंठ में भी सूजन आ जाती है।

 होंठ का सूखना

डिहाइड्रेशन, विटामिन बी या आयरन की कमी से होंठ सूखे-सूखे से नजर आने लगते हैं। 

कारगर उपाय

 होंठ का सूखापन दूर करने के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पियें। अगर वो फिर भी ठीक ना हो तो डॉक्टर से संपर्क करें।

 मुंह का सूखापन

मुंह का सूखापन लार की कमी की वजह से होता है। इसके पीछे डिहाइड्रेशन, अल्कोहल की अधिकता, धूम्रपान जैसे कारण हो सकते हैं। साथ ही साथ ये डाइबिटीज के एक शुरुआती लक्षण में से भी एक है।

डॉक्टर से संपर्क

डाइबिटीज का पता लगाने के लिए आपको डॉक्टर से संपर्क करना होगा। साथ ही साथ मुंह के छालों और कट से बचने के लिए आप विटामिन बी से भरपूर आहार अपने खाने में शामिल कर सकते हैं। 

 
 

You may also like

कोलेस्ट्रोल को कंट्रोल में रखती है राई

राई के छोटे-छोटे दाने भारतीय रसोई में बहुत