प्रेमी युगल ने एक ही फंदे में लगाई फांसी, पेड़ पर झूलते मिले दोनों के शव

जनपद के गोवर्धन इलाके में प्रेमी युगल ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. पेड़ पर झूलते मिले दोनों के शव. प्राप्त जानकारी के मुताबिक मृतक युगल एक दूसरे से प्यार करते थे, लेकिन एक ही गांव और गोत्र होने के चलते परिवारीजन इस रिश्ते के खिलाफ थे. हालांकि पुलिस को शवों के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है. पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टमके लिए भेज दिया है.

लड़की की शादी कहीं और तय थी

प्रेमी युगल के आत्महत्या का मामला मथुरा के गोवर्धन क्षेत्र के महरौली गांव का है. गांव के बाहर जंगल में प्रेमी युगल का शव एक ही फंदे पर पेड़ से लटका मिलने से इलाके में सनसनी फ़ैल गई. ग्रामीणों से प्राप्त सूचना के बाद गोवर्धन पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शवों को कब्जे में लिया. जानकारी के मुताबिक मृत प्रेमी युगल एक-दूसरे प्यार करते थे और शादी करना चाहते थे. लेकिन एक ही गांव और गोत्र होने के चलते परिवारीजनों को ये रिश्ता मंजूर नहीं था. इसी बीच लड़की के घर वालों ने उसका रिश्ता कहीं और तय कर दिया था. 10 जून को लड़की की शादी की तारीख भी पक्की कर दी थी. फिलहाल पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की बारीकी से तफ्तीश में जुट गई है.

जनकपुर से चली बस पहुंची अयोध्या, CM योगी ने किया स्वागत

पुलिस ने बताया कि आरम्भिक जांच में मामला प्रेम प्रसंग में आत्महत्या का लग रहा है. गोवर्धन पुलिस के मुताबिक उन्हें ग्रामीणों से ये जानकारी मिली है कि महरौली गांव के निवासी युवक-युवती के बीच काफी दिनों से प्रेम-प्रसंग चल रहा था. दोनों शादी करना चाहते थे. लेकिन लड़की के घर वालों ने इस रिश्ते से मन कर दिया था और लड़की की शादी कहीं अन्यत्र तय कर दी थी. गांव वालों ने बताया कि लड़की की शादी के कार्ड भी छप गए थे. इस दौरान जब दोनों को लगा कि उनका विवाह अब संभव नहीं है तो उन्होंने एक साथ मरने का फैसला किया और जंगल में जाकर एक ही फंदे से फांसी पर झूल गए. प्रेमी युगल की मौत के बाद पूरे गांव में सन्नाटा पसरा है और दोनों ही परिवार उनके इस कदम से गमजदा हैं.

 
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काशी दौरे का पहला दिन कुछ इस तरह गुजरा…

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को दो दिवसीय दौरे