शुरू होने वाला है त्योहारों का सीजन, जरुर रखे इन बातों का ध्यान

श्राद्ध खत्म होते ही पूरे देश में त्योहारों के सीजन की शुरुआत हो जाती है. ऐसे में लोगों के दिवाली से जुड़े 5 त्योहारों का खासा इंतजार रहता है. इन 5 दिनों की शुरुआत होती है धनतेरस से. दीपोत्‍सव के पहले दिन लोग खरीदारी (Shopping) करते हैं. शाम के समय भगवान धनवंतरि, मां लक्ष्मी और कुबेर देव की पूजा की जाती है. घर के बाहर दीपक जलाए जाते हैं. इस बार धनतेरस 23 अक्टूबर को है.

धनतेरस के दिन इस बात का रखें खास ख्याल

धनतेरस के दिन की गई खरीदारी और विधि-विधान से की गई पूजा पूरे साल अपार सुख-समृद्धि देती है. लेकिन धनतेरस के दिन की गई गलतियां (Mistakes on Dhanteras) मां लक्ष्‍मी (Maa Laxmi) को नाराज भी कर देती हैं. लिहाजा धनतेरस के दिन उन कामों से बचना चाहिए जिन्‍हें करने की मनाही की गई है. 

धनतेरस के दिन न करें ये गलतियां 

1. घर में न रखें कचरा-कबाड़

मां लक्ष्‍मी को गंदगी नापसंद है, जहां गंदगी हो वहां धन की देवी कभी नहीं रहती हैं. लिहाजा धनतेरस के दिन सबसे पहले अपने घर से कबाड़ और कचरा निकाल दें. टूटी हुई, खराब चीजें भी घर से बाहर करें. ये गरीबी का कारण बनती हैं. 

2. घर का मुख्य द्वार साफ करें

घर के मुख्य द्वार को साफ करें. यहां गंदगी होना गरीबी को बुलावा देना है. घर का मुख्‍य दरवाजा और उसके सामने का हिस्‍सा बहुत साफ और सुंदर होना चाहिए. रंगोली बनाना, बंदनवार लगाना बहुत शुभ होता है. 

3. शुभ चीजों की ही खरीदारी करें

धनतेरस के दिन सोना-चांदी, तांबा-पीतल, गाड़ी, धनिया के बीज, झाड़ू खरीदना शुभ होता है. लिहाजा अपनी सामर्थ्‍य के अनुसार खरीदी करें. लोहा या मिलावटी चीजें जैसे प्‍लास्टिक आदि न खरीदें. ना ही कांच की कोई चीज खरीदें. 

4. उधार न दें और न लें

धनतेरस के दिन उधार लेना या देना बहुत अशुभ होता है. यह पूरे साल के लिए आप पर मां लक्ष्‍मी की कृपा रोक सकता है. 

5. दिन में न सोएं

धनतेरस-दिवाली पर दिन के समय सोना अशुभ होता है. इससे गरीबी आती है. दोपहर को आराम करना जरूरी हो तो भी थोड़ी देर ही आराम करें. देर तक न सोएं. 

6.केवल कुबेर या धनवंतरी की पूजा न करें

भले ही धनतेरस का दिन भगवान धनवंतरी और कुबेर देव के लिए समर्पित है लेकिन केवल इनकी पूजा न करें. इनके साथ मां लक्ष्‍मी की पूजा जरूर करें. 

7. कांच की मूर्ति न पूजें

गलती से भी कांच की मूर्ति की पूजा न करें. सोना-चांदी, पीतल या मिट्टी की मूर्ति की पूजा करना ही शुभ होता है. 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button