महाराष्ट्र की “वो 11 जगहें” जिन्हें आप जरूर देखना चाहेंगे

- in पर्यटन

महाराष्ट्र का अपना इतिहास बहुत ही गौरवशाली रहा है, वैसे तो मुग़ल सल्तनत की हमेशा से ख्वाहिश रही थी की वे महाराष्ट्र पर कब्ज़ा करे लेकिन महाराष्ट्र के आराध्य देव के रूप में पूजे जाने वाले मराठा शासक क्षत्रपति शिवाजी महाराज के चलते मुगलों के मंसूबे कभी पुरे नहीं हो सके| वे वीर शिवाजी महाराज ही थे जिन्होंने समूचे मुगलों से अकेले लोहा लिया था उनकी ताकत को अपने तलवारों से तोला था| शिवाजी ने ब्रिटिशों की रातों की नींद बहुत उड़ाई थी।

आपको बता दे कि महाराष्ट्र भारत के दक्षिण मध्य में स्थित है| यह भारत का तीसरा सबसे बड़ा राज्य है| महारष्ट्र की राजधानी मुंबई, देश की आर्थिक राजधानी के रूप में भी जानी जाती है|यहाँ का पुणे शहर भी भारत के बड़े महानगरों मे गिना जाता है| पुणे भारत का छठा सबसे बड़ा शहर है| आपको बता दे कि महाराष्ट्र में पर्यटन स्थलों के रुप में बहुत सी गुफाएं, आकर्षक हिल स्टेशन, समुद्र तट, भक्ति के पवित्र स्थल आदि देखने लायक हैं| घूमने के शौकीनों के लिए महाराष्ट्र अपने आप में एक पूरा पर्यटन स्थल है। महाराष्ट्र में सब कुछ है।

आपको बता दे कि महाराष्ट्र की यात्रा किसी भी सैलानी को भारत के पश्चिमी भाग की खूबसूरती को जानने का मौका देती है।  जिसमें मुख्य रुप से दो भू-आकृतियां हैं और इनमें प्राकृतिक सुंदरता के तौर पर बहुत कुछ पेश करने को है। कोंकण की तटीय पट्टी और डेक्कन पठार, ये दो ऐसी प्रकार की ज़मीनें हैं जो इस क्षेत्र में कई सुंदर जगहें बनाती हैं। महाराष्ट्र में अजंता और एलोरा में दो विश्व विरासत स्थल हैं जो हमेशा से पर्यटकों का मन मोह लेते हैं।

आपको बता दे कि महाराष्ट्र की सीमा आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, गुजरात, गोवा और कर्नाटक से लगी हुई है। इससे सैलानियों के लिए महाराष्ट्र और उसके आसपास घूमने के लिए कई जगहों के विकल्प मौजूद हैं। अगर आपको तीन हज़ार साल पहले के धर्म और इंसानी कल्पना को चित्रों और मूर्तियों के रुप देखना चाहते हैं तो अजंता की गुफाओं के देखिये और महाराष्ट्र अपने साप में एक समूचा भारत ही हैं| महाराष्ट्र के बगैर भारत की कल्पना नहीं की जा सकती मराठों के वीरता के किस्सों के बगैर इतिहास अधुरा सा लगता हैं|

जानिए महाराष्ट्र को बेहद करीब से 

1) अमरावती

अमरावती देवताओं के राजा इन्द्र का शहर माना जाता है| यह महाराष्ट्र के उत्तर पूर्व दिशा में स्थित हैं|अनेक ऐतिहासिक मंदिर और अभ्यारण्य स्थल हैं| अमरावती जिले के चीकलधारा और धरनी तहसील में स्थित टाईगर रिजर्व 1597 वर्ग किमी क्षेत्र में फैला है| यहां का देवी अंबा, भगवान श्रीकृष्ण और वेंकटेश्वर मंदिर पूरे महाराष्ट्र में प्रसिद्ध हैं| आपको बता दे कि अमरावती की बीर और शक्कर झील काफी चर्चित हैं|

2) नासिक और  शिर्डी

नासिक को नासहिक के नाम से भी जाना जाता है| यह शहर प्रमुख रूप से हिन्दू तीर्थयात्रियों का प्रमुख केन्द्र है| नाशिक के कालाराम और दूसरे मन्दिर विख्यात है और लोग गोदावरी नदी में नहाना पवित्र समझते हैं। नासिक में लगने वाला कुंभ मेला शहर के आकर्षण का सबसे बड़ा केन्द्र है| यहां 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक त्र्यंबकेश्वर मंदिर भी है|नाशिक एक काफ़ी सुन्दर शहर है और यहाँ का मौसम सुहाना है।

शिर्डी महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में स्थित है। पूरी दुनिया से लोग श्री सांई बाबा की समाधि पर बने शिर्डी सांई मंदिर को देखने आते हैं। इस मंदिर के अलावा शनि मंदिर, नरसिंह मंदिर, कंडोबा मंदिर, साकोरी आश्रम और चांगदेव महाराज समाधि भी देखे जा सकते हैं।

3) पुणे

महाराष्ट्र का पुणे शहर को डेक्कन की रानी और पूरब के आॅक्सफोर्ड के नाम से जाना जाता हैं| पुणे को महाराष्ट्र का संस्कृति प्रधान नगर माना जाता है। पुणे में शनिवारवाड़ा महल है जो पेशवा का निवास स्थान था| इस महल की नींव बाजीराव प्रथम ने 1730 ई. में रखी थी| यहाँ शनिवारवाडा, लाल महल, सिंहगढ़ जैसे ऐतिहासिक स्थान हैं। पुणे का आई.टी. पार्क और लक्ष्मी रोड काफ़ी जाना माना है। पुणे के हरे भरे पर्वत और खूबसूरत झीलें यहां आने वाले सैलानियों के लिए यादगार रहती हैं। पुणे का समृद्ध ऐतिहासिक अतीत और आधुनिक चमकदार आकर्षण के लिए देखने लायक बनता है। पुणे के हरे भरे पर्वत और खूबसूरत झीलें यहां आने वाले सैलानियों के लिए यादगार रहती हैं।

4) मुंबई

भारत के चार प्रमुख महानगरों में से एक होने के साथ-साथ यह महाराष्ट्र की राजधानी भी है| इसे भारत की आर्थिक राजधानी भी कहा जाता है| मुंबई को पहले बॉम्बे के नाम से जाना जाता था| यह शहर लोगों के सपने पूरे करने के लिए जाना जाता है और यही कारण है कि लोग इसे ‘ड्रीम सिटी आॅफ इंडिया’ भी कहते हैं। मुंबई शहर बाॅलीवुड का गढ़ भी है। यहां मुख्य रूप से घुमने के लिए यहां गेटवे आफॅ इंडिया, हाजी अली, जूहू बीच, जोगेश्वारी गुफा, हैंगिंग गार्डन, सिद्धिविनायक मंदिर, मरीन ड्राइव देखे जा सकते हैं| प्रिन्स वेल्स म्युज़ियम, एलिफेंटा की गुफाएँ बहुत ही प्रसिद्ध है| यहाँ  बांद्रा-वर्ली सी लिंक भी देखने लायक हैं|

5) एलीफेंटा गुफाएं

एलिफेंटा की गुफाएं 450 से 750 ईस्वी पुरानी हैं| मुंबई तट से सिर्फ 10 किलोमीटर दूर अरब सागर के बीच एक द्वीप पर यह गुफाएं स्थित हैं। इन गुफाओं में भगवान शिव की महिमा का चित्रण करती कई प्रतिमाएं हैं। एलिफेंटा की गुफाओं को यूनेस्को ने विश्व विरासत घोषित कर रखा है। गेटवे आॅफ इंडिया से इस द्वीप के लिए जेटी से नियमित मोटरबोट चलती है।

6) रत्नागिरी

रत्नागिरी महाराष्ट्र राज्य के दक्षिण-पश्चिम भाग में अरब सागर के तट पर स्थित है| यह कोंकण क्षेत्र का ही एक भाग है| रत्नागगिरी में दो विशाल बौद्ध मठ थे मठ के अतिरिक्त यहां से छह मंदिर, हजारों छोटे स्तू्प, 1386 मुहरें, असंख्य् मूर्तियां आदि के अवशेष मिले हैं, थीवा महल, रत्ना गिरी किला भी आकर्षण का केंद्र हैं| समुद्र से घिरा रत्नागिरी  बाल गंगाधर तिलक का जन्मास्थांन हैं| यहां बहुत लंबा समुद्र तट है| यहां कई बंदरगाह भी हैं|

7) लोनावाला

लोनावला एक हिल स्टेशन है| लोनावला को पहाडियों के मणि के नाम से भी जाना जाता है|ये समुद्र तल से 625 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है| इसे मुंबई और पूना का प्रवेश द्वार भी माना जाता है| वुड पार्क लोनावाला के मुख्य  बाजार के ठीक पीछे स्थित है| यह एक जैविक उद्यान है| इसकी बहुत सी कब्रें 100 साल पुरानी हैं|

8) औरंगाबाद

औरंगाबाद शहर अजंता और एलोरा के विरासत स्थलों के लिए मशहूर है। 29 चट्टानों के समूह को काट कर बने ये गुफा पर्वत इस देश में वास्तुकला की उपलब्धियों का प्रतीक हैं। इन गुफाओं को वर्ल्ड हेरिटेज में शामिल कर लिया गया है| यहीं औरंगजेब की मृत्युी भी हुई थी| औरंगजेब की पत्नीत रबिया दुरानी का मकबरा भी यही हैं| अजंता के भित्ति चित्र और एलोरा की मूर्तियां और इस जगह की खूबसूरती आपको मंत्रमुग्ध कर देगी।यहाँ का बीबी का मकबरा बहुत मशहूर हैं |यह मकबरा मशहूर ताज महल की नकल है। पनचक्की और दरवाज़े यहां बीते दिनों की शानदार वास्तुकला के उदाहरण के तौर पर मौजूद हैं। दौलतबाद में जामा मस्जिद, चांद मीनार, चीनी महल और दौलताबाद का किला शामिल हैं|

9) गणपतिपुले

गणपतिपुले महाराष्ट्र का एक छोटा सा गांव है| सुनहरी धूप से सजे तट और हरियाली आपको गणपतिपुले की शानदार धरती से लगाव हो जायेगा| जिसमें खूबसूरत लंबे समुद्र तट हैं। गणपतिपुले नाम का तट इनमें सबसे सुंदर बीच है। यहां पर पानी के खेल की सुविधाएं भी उपलब्ध हैं। इसके अलावा तट पर भगवान गणपति का मंदिर भी है।

10) पंचगनी

पांच पहाड़ों से घिरा पंचगनी धरती पर एक स्वर्ग है। यह जगह बहुत सुंदर है और आसपास का वातावरण बहुत शांत है। सैलानियों के बीच यह हिल स्टेशन बहुत मशहूर है। पंचगनी में आपको कई अमीर और मशहूर व्यक्तियों के फार्म हाउस मिल जाएंगे।

11) महाबलेश्वर

यह महाराष्ट्र के सतारा जिले में है| महाबलेश्वर हिल स्टेशन वेस्टर्न घाट रेंज में स्थित है| यहां कृष्णा भाई मंदिर, 3 मंकी प्वॉइंट, वेन्ना झील, लिंगमाला वॉटरफॉल, केट्स पॉइंट, विलसन प्वॉइंट, महाबलेश्वर के पास ही प्रतापगढ़ का किला घूमने लायक हैं

 

You may also like

अगर इस सितंबर जा रहे हैं घुमने, तो आपके लिए बेस्ट है लद्दाख

सभी लोगों को घूमने फिरने का शौक होता