लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ को पिछले साल लखनऊ यूनिवर्सिटी में काले झंडे दिखाने वाली स्टूडेंट पूजा शुक्ला को यूनिवर्सिटी ने निकाल दिया है. बिना कारण बताए प्रवेश नहीं दे रही लखनऊ यूनिवर्सिटी के फैसले के विरोध में पूजा शुक्ला हड़ताल पर हैं. वह अन्न जल भी त्याग रही हैं. इससे उनकी हालत बिगड़ रही है.CM योगी को कला झंडा दिखाने वाली स्टूडेंट को मिली ऐसी सजा, अब 49 दिन से हड़ताल पर

पिछले 49 दिनों से हड़ताल पर बैठीं पूजा शुक्ला के समर्थन में कई लोग जुट रहे हैं. बता दें कि ये वही पूजा शुक्ला हैं जिन्होंने पिछले साल लखनऊ यूनिवर्सिटी में हो रहे आरएसएस के एक कार्यक्रम का विरोध किया था. उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ को काले झंडे दिखाए गए थे. इसके बाद उन्हें 26 दिन में रहना पड़ा था. पूजा का कहना है कि आरएसएस का कार्यक्रम यूनिवर्सिटी के खर्चे पर हो रहा था, जो कि गलत था.

यूनिवर्सिटी के खिलाफ 49 दिन से हड़ताल पर हैं पूजा

पूजा शुक्ला लखनऊ यूनिवर्सिटी की छात्रा थीं, लेकिन नए सत्र शुरू होने के दौरान यूनिवर्सिटी ने उनका आवेदन कैंसिल कर दिया. उन्हें प्रवेश नहीं मिला. पूजा शुक्ला का कहना है कि यूनिवर्सिटी ने ऐसा करने के लिए उन्हें कोई कारण भी नहीं बताया. कुलपति को यूनिवर्सिटी से निकालने का कारण बताना चाहिए. पूजा लखनऊ यूनिवर्सिटी से पिछले 49 दिनों से हड़ताल पर बैठी हैं, लेकिन अब तक शासन-प्रशासन की ओर से कोई उनसे मिलने नहीं पहुंचा है. पूजा के अनुसार वह अब पानी भी त्यागने जा रही हैं. वह तानाशाही के खिलाफ हैं और पीछे नहीं हटेंगी. हड़ताल पर बैठीं पूजा के समर्थन में विपक्षी राजनैतिक दल, मानवाधिकार संगठन जुट रहे हैं. कई लोग ये मामला उच्च न्यायालय में ले जाने की बात कह रहे हैं.

23 की उम्र में 26 दिन रहीं जेल

बता दें कि 2017 में विधानसभा चुनाव के बाद लखनऊ यूनिवर्सिटी में आरएसएस का एक कार्यक्रम हुआ था. इसमें सीएम योगी आदित्यनाथ भी शामिल होने आए थे. इस कार्यक्रम का छात्र विरोध कर रहे थे. उनका कहना था कि यूनिवर्सिटी के खर्चे पर कार्यक्रम हो रहा था, जो नहीं होना चाहिए. इसी को लेकर पूजा शुक्ला और उनके साथियों द्वारा सीएम योगी को काले झंडे दिखाए गए थे. पूजा सीएम योगी के फ्लीट के आगे लेट गई थीं. इसके बाद पुलिस ने उन्हें व उनके साथियों को जेल भेज दिया था. जेल में रहने के दौरान उन्होंने चिट्टी लिखी थी, जिसमें लिखा था कि अत्याचार के सामने वह नहीं झुकेंगीं. वह 26 दिन बाद जेल से बाहर आईं. जेल से बाहर आने के बाद उन्होंने कहा था कि उनकी जिंदगी पूरी तरह से बदल गई है.

लखनऊ की रहने वालीं पूजा ने कहा- पीछे नहीं हटूंगी

पूजा शुक्ला आइसा से जुड़ी रही हैं. उन्होंने स्टूडेंट्स का अपना ग्रुप भी बनाया था. अब वह सपा से भी जुड़ी हैं. सीएम को काले झंडे दिखाने और जेल जाने से चर्चित होने के बड़ा यूनिवर्सिटी के खिलाफ धरने पर बैठीं लखनऊ की रहने वाली पूजा कहती हैं कि किसी का विरोध करना गलत नहीं है. यह लोकतांत्रिक है. वह कहती हैं कि उन्हें नहीं पता कि धरने पर उन्हें कब तक बैठा पड़ेगा, वह किसी भी कीमत पर पीछे नहीं हटेंगी.