शोध: मछली के तेल से बच्‍चों की मेमोरी नहीं होती है तेज

- in ज़रा-हटके

लोगों के बीच मान्‍यता है कि बच्‍चों की मेमोरी को तेज बनाने के लिए मछली का तेल काफी कारगर होता है. पर अब इस बात को एक नए शोध ने खारिज कर दिया है. इसमें बताया गया है कि ओमेगा 3 से युक्‍त मछली का तेल छोटे बच्‍चों के मेमोरी फंक्‍शन को बेहतर नहीं बनाता है. जबकि इससे पहले जो शोध आए थे उसमें बताया गया था कि ओमेगा 3एस युक्‍त खाद्य पदार्थों के सेवन से बुद्धि‍ तेज होती है.

शोध: मछली के तेल से बच्‍चों की मेमोरी नहीं होती है तेज

क्‍या कहती है रिसर्च
शोध में कहा गया है कि ओमेगा-3 युक्‍त सप्लिमेंट्स लेने से बच्‍चे की पढ़ने की क्षमता और वर्किंग मेमोरी पर कोई खास फर्क नहीं होता. खासकर उन बच्‍चों में जो ADHD यानी attention deficit hyperactivity disorder से पीड़ि‍त हैं. ये शोध ब्रिटेन में यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्‍सफोर्ड ने किया. मुख्‍य रिसर्चर थीस स्‍प्रेकलसेन ने कहा, ‘मछली का तेल या ओमेगा 3 फैटी एसिड को काफी लाभदायक बताया जाता रहा है. हालांकि, बच्‍चों की लर्निंग और बिहेवियर पर हमें उतना सशक्‍त बदलाव देखने को नहीं मिला जितना पहले कहा जाता रहा है.’

कैसे किया गया शोध
टीम ने इसके लिए 376 बच्‍चों को चुना, जिनकी उम्र सात से नौ साल के बीच थी. ये सभी पढ़ाई में अच्‍छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे थे. इनमें से आधे बच्‍चों को प्रतिदिन ओमेगा 3 मछली ऑयल सप्लिमेंट दिया गया. और बाकी को 16 हफ्तों तक अन्‍य दवा पर रखा गया है. शोध शुरू होने से पहले और अंत में इन बच्‍चों की रीडिंग और वर्किंग मेमोरी की जांच की गई.

जब परिणाम आए तो पता चला कि मछली के तेल वाले सप्लिमेंट्स से किसी बच्‍चे की रीडिंग और वर्किंग मेमोरी या बर्ताव में कोई बदलाव नहीं आया था या काफी कम बदलाव दिखे थे. बता दें कि मछली से मिलने वाले ओमेगा 3 फैटी एसिड को कैंसर, अस्‍थमा से बचाव के लिए अच्‍छा माना जाता है.

 
 
 

You may also like

अंडरवियर तो सभी पहनते हैं, लेकिन नहीं जानता होगा कोई भी इसका इतिहास

अंडरवियर एक ऐसी चीज़ है जिसे हर कोई