मुंह में बार-बार इन्फेक्शन होना इस बीमारी का है संकेत

आजकल अधिकतर लोग हाई ब्लड शुगर लेवल यानी डायबिटीज से परेशान नजर आते हैं। जी दरअसल बदलती लाइफस्टाइल और खानपान की खराब आदतों के कारण डायबिटीज समेत कई बीमारियां लोगों को हो जाती है। हालाँकि इनसे छुटकारा पाने के लिए लोग तरह-तरह के जतन करते हैं। आपको बता दें कि डायबिटीज शरीर पर कई तरह से नकारात्मक प्रभाव डालती है, जिसमें मरीज का मुंह और ओरल हेल्थ सबसे ज्यादा प्रभावित हो सकती है। आपको बता दें कि डायबिटीज के मरीजों में गम डिजीज, कैविटी जैसी समस्याएं गंभीर रूप से परेशान कर सकती हैं। ऐसे में डायबिटीज से पीड़ित लोगों को अपनी ओरल हेल्थ को लेकर जागरूक रहना चाहिए। मुंह में दांतों और मसूड़ों की ठीक प्रकार सफाई रखने से डायबिटीज के साथ हार्ट और किडनी से संबंधित परेशानियों को भी कम किया जा सकता है। आइए बताते हैं कैसे मुंह को परेशान करती है डायबिटीज 


डायबिटीज बन सकती है डेंटल प्रॉब्लम की वजह- हमारे मुंह में मौजूद लार एक लिक्विड पदार्थ होती है जो खाने को ब्रेकडाउन कर फ्ल्यूड फॉर्म में बदलकर मुंह में बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकती है। ऐसे में मुंह की लार बैक्टीरिया से लड़कर मुंह में कैविटी या सड़न से बचाव करती है। वहीँ जब आप डायबिटीज से ग्रस्त होते हैं, तब लार में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ जाती है। जो खाने में बैक्टीरिया के साथ मिलकर एक चिपचिपा पदार्थ बनाते हैं जिसे आप प्लाक के नाम से जानते हैं। जी हाँ और लंबे समय तक प्लाक जमा होने से मसूड़ों की गंभीर समस्याएं हो सकती हैं। वहीँ एक्सपर्ट्स के मुताबिक, डायबिटीज के मेडिकेशन से भी मरीजों के दांतों में कैविटी और मसूड़ों की सड़न का खतरा काफी ज्यादा रहता है।

डायबिटीज के कारण मुंह में होने वाली समस्याएं

– ड्राई माउथ, डायबिटीज के कारण मुंह में लार कम बनती है जिससे मुंह में छाले, अल्सर और इन्फेक्शन हो सकता है।

– थ्रश, से मुंह में होने वाला एक इन्फेक्शन है जिसमें सफेद धब्बों के साथ काफी दर्द सहना पड़ता है।

– बर्निंग माउथ सिंड्रोम, शरीर में ब्लड शुगर लेवल बढ़ने से मुंह के अंदर जलन महसूस हो सकती है।

– डायबिटीज में खाने और पीने की चीजों का स्वाद खराब और बदला हुआ लगता है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button