5400 करोड़ का है राशन घोटाला तो BJP बोली- ‘छोटे लालू’ हो गए हैं केजरीवाल: कपिल

नई दिल्ली। पिछले तीन साल से दिल्ली में सत्ता चला रही आम आदमी पार्टी (AAP) अपनी ईमानदारी की लाख दुहाई दे, लेकिन नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट में कई घोटाले सामने आने के बाद उसकी कलई खुलती नजर आ रही है। दरअसल, दिल्ली में राशन वितरण में बड़ी अनियमितता सामने आयी है। सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि बिहार के चारा घोटाले की तरह दिल्ली में भी मोटरसाइकिल और टेंपो पर अनाज ढोया गया। इसमें साफतौर पर राशन घोटाला हुआ है।5400 करोड़ का है राशन घोटाला तो BJP बोली- 'छोटे लालू' हो गए हैं केजरीवाल: कपिल

सीएजी रिपोर्ट पर तेज हुई सियासत

दिल्ली में अनियमितताओं पर सीएजी रिपोर्ट में हुए खुलासे के बाद सियासत भी तेज हो गई है। समूचे विपक्ष ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर हमला बोल दिया है। जहां एक ओर कांग्रेस हमलावर है, वहीं दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने बुधवार को प्रेसवार्ता कर दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार पर चुन-चुनकर हमले बोले। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बिहार जैसा चारा घोटाला हुआ है। मनोज तिवारी ने कहा कि वहां जानवरों का चारा और यहां गरीबों का राशन खा लिया गया। केजरीवाल छोटे लालू हो गए हैं।

सीएम पद छोड़ें केजरीवालः मनोज तिवारी

मानहानि के मामलों में लगातार लोगों से माफी मांगने को लेकर दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि केजरीवाल आजकल सभी से माफी मांग रहे हैं। उन्हें दिल्ली के लोगों से भी माफी मांगते हुए अपना पद छोड़ देना चाहिए। उन्होंने कहा कि राशन घोटाले के विरोध में बृहस्पतिवार को भाजपा विधानसभा के बाहर प्रदर्शन करेगी।

उधर, दिल्ली के पूर्व मंत्री और बागी AAP  विधायक कपिल मिश्रा ने कहा कि घोटाला साल का 1800 करोड़ और तीन साल में 5400 करोड़ रुपये का हो गया है। इस बाबत उन्होंने एक ट्वीट भी किया है। 

उन्होंने बताया कि CAG रिपोर्ट के आधार पर शुक्रवार को वे खुद CBI दफ्तर जाकर संबंधित मंत्री इमरान हुसैन की शिकायत करेंगे। कपिल के मुताबिक, दिल्ली सरकार की राशन माफिया से सीधी मिलीभगत है, जिसके जिम्मेदार खुद मंत्री इमरान हुसैन हैं।

कपिल का यह भी कहना है कि कुछ दिनों पहले 4 लाख नकली राशनकार्ड पकड़ में आए थे, लेकिन मंत्री इमरान हुसैन ने राशनकार्डों को रद नहीं करने के आदेश दिए थे। उन्होंने आरोप लगाया कि इन नकली राशनकार्डों के जरिए हर महीने 150 करोड़ रुपये के राशन का घोटाला किया गया है। वहीं, उन्होंने कहा कि इस हिसाब से ये घोटाला साल का 1800 करोड़ और तीन साल में 5400 करोड़ रुपये का हो गया है।

वहीं, सीएजी रिपोर्ट सामने आने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि कैग की तरफ उजागर भ्रष्टाचार या अनियमितता के हर मामले में दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी, किसी को भी नहीं बख्शा जाएगा।

सीएजी रिपोर्ट की मानें तो भारतीय खाद्य निगम (FCI) गोदाम से राशन वितरण केंद्रों पर 1589 क्विंटल राशन की ढुलाई के लिए आठ ऐसी गाड़ियों का इस्तेमाल किया गया, जिनका रजिस्ट्रेशन नंबर बस, टेंपो और स्कूटर-बाइक का था।

इसमें हैरानी की बात तो यह है कि 2016-17 में जिन 207 गाड़ियों को राशन ढुलाई के काम में लाया गया, उनमें 42 के रजिस्ट्रेशन ही नहीं हैं। यह खुलासा सीएजी की रिपोर्ट में हुआ है। यह भी सामने आ रहा है कि राशन का वितरण हुआ ही नहीं और अनाज चोरी की आशंका से इनकार नहीं जा सकता है। 

 

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के