राजस्थान उपचुनाव LIVE: 70 और लोकसभा क्षेत्र अजमेर-अलवर में 55 फीसदी से ज्यादा वोटिंग

राजस्थान में लोकसभा की दो और विधानसभा की एक सीट पर उपचुनाव के लिए मतदान जारी है। 

अजमेर और अलवर लोकसभा क्षेत्र में 4:30 बजे तक करीब 57-57 फीसदी मतदान हुआ है, जबकि मांडलगढ़ विधानसभा सीट पर 70 फीसदी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके है। तीनों ही जगह मतदान केंद्रों पर सुबह से ही लाइनें नजर आई। 

राजस्थान उपचुनाव LIVE: 70 और लोकसभा क्षेत्र अजमेर-अलवर में 55 फीसदी से ज्यादा वोटिंगकई स्थानों पर ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतें भी मिली है। ​जिस कारण करीब डेढ़ दर्जन पोलिंग बूथ पर मतदान कुछ देरी से प्रारंभ हुआ। जबकि अलवर अलवर के गूगलकोट गांव में मतदाताओं ने चुनाव का बहिष्कार किया है। वहीं अजमेर के एक पोलिंग बूथ के बाहर राजस्थान सरकार के एक मंत्री और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच झड़प भी हुई है। वहीं दोनों पार्टियों के कई दिग्गज नेताओं ने आज सुबह-सुबह मतदान किया। जिसमें पूर्व केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह, भाजपा नेता भूपेन्द्र यादव भी सम्मलित थे। 

यहां हो रहे है उपचुनाव

राजस्थान में आज तीन उपचुनाव के लिए मतदान हो रहा है। जिसमें अलवर व अजमेर की लोकसभा सीट व मांडलगढ़ विधानसभा के उपचुनाव सम्मलित है। अब तक इन तीनों सीटों पर भाजपा का ही कब्जा था। इन सीटों पर वापिस काबिज होने के लिए भाजपा की प्रदेश ईकाई ने पूरी ताकत झोंक दी है। वहीं दूसरी और कांग्रेस ने भी इन चुनावों के लिए हुए प्रचार में एकजुटता दिखाने का पूरा प्रयास किया है। 

ये है मैदान

इन उपचुनाव में दिए गए टिकिटों को लेकर दोनों ही पार्टियों पर वंशवाद और जातिवाद के आरोप लगे है। अजमेर लोकसभा सीट से भाजपा ने जहां पूर्व सांसद और केन्द्रीय मंत्री रहे सांवरलाल जाट के बेटे रामस्वरुप लांबा को प्रत्याशी बनाया है। वहीं कांग्रेस ने पूर्व विधायक डॉ रघु शर्मा पर दांव लगाया है। जबकि अलवर से भाजपा ने वर्तमान राज्य सरकार में मंत्री डॉ जसवंत यादव को तो कांग्रेस ने पूर्व सांसद डॉ करण सिंह यादव को प्रत्याशी बनाया है। जबकि मांडलगढ से भाजपा ने शक्ति सिंह हाड़ा और कांग्रेस ने विवेक धाकड़ को मैदान में उतारा है। 

इसलिए हो रहे है उपचुनाव

राजस्थान में अलवर, अजमेर लोकसभा व मांडलगढ़ विधानसभा सीट के लिए उपचुनाव हो रहे है। अलवर व अजमेर लोकसभा सीट पर उपचुनाव पूर्व सांसद महंत चांदनाथ और सांवरलाल जाट के निधन के चलते हो रहे है। जबकि मांडलगढ़ विधानसभा चुनाव का कारण भी पूर्व विधायक कीर्ति कुमारी का आकस्मिक​ निधन ही है। ये तीनों ही सीटें अब तक भाजपा के पास रही है। इसमें अजमेर सांसद रहे सांवरलाल जाट वर्तमान मोदी सरकार में मंत्री भी रहे है। 
Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button