1 मार्च से जारी आरबीआई की गाइडलाइंस में कहा गया है कि ऐसी कंपनियां जो मोबाइल से पेमेंट की सुविधा दे रही हैं उनके लिए जरूरी है कि वो अपने ग्राहकों से केवाईसी प्रक्रिया को पूरी करवाए ताकि और बेहतर ढंग से डिजिटल करेंसी की सुविधा ग्राहकों को मिल सके. केवाईसी पूरी करने वाले उपभोक्ताओं को पेटीएम की तरफ से कुछ खास ऑफर भी दिए जा रहे हैं जैसे पेटीएम अकाउंट में 1 लाख रुपये तक स्टोर करने की सुविधा, किसी दूसरे पेटीएम अकाउंट में 1 लाख रुपये तक बैलेंस ट्रांसफर करने की सुविधा और किसी के बैंक अकाउंट में हर महीने 25 हजार रुपये तक बैलेंस ट्रांसफर करने की सुविधा. इसके अलावा किसी भुगतान पर कैशबैक की भी सुविधा है.

एक बार केवाईसी की प्रक्रिया को पूरी करने के बाद आप अपने पेटीएम अकाउंट में 10 हजार रुपये तक का बैलेंस रख सकते हैं और उससे कहीं भी भुगतान कर सकते हैं. इसके लिए आपको अपनी पेटीएम ऐप को खोलकर उसपर दिख रहे केवाईसी ऑप्शन को सिलेक्ट करना पड़ेगा. इसके बाद अपना आधार नंबर डालना पड़ेगा, यहां एक बात जरूर ध्यान रखें कि नाम बिल्कुल वैसा ही होना चाहिए जैसा आपके आधार कार्ड पर दर्ज हो. इसके बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) आएगा जिसे आपको अपने मोबाइल में दर्ज करना पड़ेगा.

RBI ने किया खुलासा: बैंक में जमा 100 रुपये में केवल 30 रुपये हैं सुरक्षित

एक बात का ध्यान जरूर रखें कि कोई भी जानकारी दर्ज करने से पहले उसे अच्छी तरह से जांच लें कि वो सही है या नहीं. इसके बाद आपसे आपकी बेसिक डिटेल पूछी जाएगी जैसे आप शादीशुदा हैं या नहीं, माता-पिता का नाम. सबकुछ सही होने पर आपका केवाईसी पूरा हो जाएगा. ऐसा करने पर आपका केवाईसी एक साल तक के लिए वैध होगा और आपको अपने पेटीएम अकाउंट से किसी दूसरे अकाउंट में बैलेंस ट्रांसफर करने की सुविधा भी मिल जाएगी. हालांकि सालभर के लिए अधिकतम लिमिट 2 लाख ही मिलेगी.

इसके बाद आप अपने नजदीकी केवाईसी आउटलेट को सर्च करके या अपना पता डालकर अपना केवाईसी वेरिफाई कर सकते हैं. अगर आपके पास आधार कार्ड नहीं है तो भी आप केवाईसी करा सकते हैं. इसके लिए आप अपने वोटर कार्ड, नरेगा कार्ड, पासपोर्ट या ड्राइविंग लाइसेंस का इस्तेमाल कर सकते हैं.