Omg: सिर्फ सैंडविच का नाम लेते ही तुरंत सेक्स करने के लिए रेडी हो जाती है यहाँ की लड़कियां, वजह जानकर सन्न रह जाओगे…

आर्थ‍िक मंदी से गुजर रहे ग्रीस के हालात बद से बत्तर हो गए है। यहां पर सिर्फ एक सैंडविच के लिए लड़कियों के जिस्म का सौदा करने वाली बात सामने आई है। ताज़ा अध्ययन के अनुसार देह व्यापार के क्षेत्र में ग्रीक की महिलाएं ईस्टर्न यूरोपियन महिलाओं से आगे निकल गई हैं।

सैंडविच के लिए ग्रीस की लड़कियां अपना जिस्म बेचती हैं
जिस्मफरोशी की दलदल में फंसी यह लड़कियां पैसे के लालच में ये सब नहीं करती, बल्कि इनकी माली हालत ने इन्हें ऐसा करने पर मजबूर कर दिया है। 
२०१५ में यूरोपियन यूनियन से बाहर होने के बाद से ग्रीस के हालात हालात बिगड़ते चले गए। इस हालात में ग्रीस में सबसे सस्ते दाम पर जिस्म की मंडी सजती है, लेकिन इस काम में ग्रीस की लड़कियों के लिए सबसे दुखदायी कोई बात है तो वो यह है कि वह महज एक सैंडविच के लिए अपने जिस्म का सौदा करती हैं। दूसरी चौंकाने वाली बात यह सामने आई है कि यहां की महिलाएं देह व्यापार के धंधे में सबसे आगे चल रही हैं।
एथेंस की एक यूनिवर्सिटी में समाजशास्त्र के प्रोफेसर ग्रेगोरी लेक्सोस की टीम ने जब इस मामले पर शोध किया तो पाया कि लड़कियां एक वक्त के खाने के लिए अपने जिस्म का सौदा कर रही हैं। इस देश में पेट की भूख मिटाने के लिए पैसों की जरूरत है लेकिन इनके पास पैसे के नाम पर कुछ भी नहीं है। मजबूरन जीने के लिए और अपना पेट पालने के लिए इस रास्ते को चुनना पड़ रहा है।
इसमें यह भी खुलासा हुआ की देह व्यापार में लिप्त अधिकांश लड़कियों की उम्र 17 से 20 साल के अंदर है और लड़कियों को यहां पहले एक ग्राहक से 50 यूरो मिलते थे लेकिन अब उन्हें महज 2 यूरो ही मुश्किल से मिल पाते हैं। इतने पैसे में सिर्फ एक सेंडविच ही आता है। ऐसे में इन्हें पेट भरना बेहद मुश्किल हो रहा है।
इसकी चर्चा पहले भी पूरी दुनिया हो चुकी है। इस बात का सबूत आपको दुनिया के मशहूर अखबारों और पत्रिकाओं में मिल जाएंगे। 
पेंटियोन विश्वविद्यालय के समाजशास्त्र के प्रोफेसर ग्रेगरी लैक्सोस ने कहा कि महिलाएं अपना शरीर बेचने को मजबूर हैं। वो ये सब पेट भरने के लिये कर रही हैं। ये पेट की भूख के आगे मजबूर हैं। हालात इसलिये भी खराब हैं क्योंकि कॉलेज से निकलते ही लड़कियां इसे अपना रही हैं। ये उनका शौक नहीं मजबूरी है।

Loading...
loading...
error: Copy is not permitted !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com