अब CBSE पेपर लीक के बिहार से जुड़े तार, हुआ ये खुलासा

- in बिहार, राज्य

गया। परीक्षा घोटालों के लिए बदनाम बिहार के लिए यह बुरी खबर है। सीबीएसई की 10वीं परीक्षा के पेपर लीक मामले के तार भी बिहार से जुड़ गए हैं। इस मामले में चतरा (झारखंड) पुलिस ने गया से पूर्व जिला पार्षद और जदयू नेत्री पूनम देवी का पुत्र अमित को गिरफ्तार किया है। वह गया के बाराचट्टी थाना क्षेत्र के सरमां का रहने वाला है।अब CBSE पेपर लीक के बिहार से जुड़े तार, हुआ ये खुलासा

अमित पर आरोप है कि उसने पटना के एक कोचिंग संस्थान से लीक पेपर वाट्सएप पर चतरा में रह रहे बहनोई को भेजा था। उसने वहां के एक कोचिंग संचालक को दिया और फिर यह वायरल हो गया। इस बात की जानकारी जब चतरा पुलिस को मिली तो छानबीन मे जुट गई। सारी कार्रवाई बहुत ही गोपनीय तरीके से की गई थी। पुलिस पूर्व पार्षद के दामाद को लेकर चतरा पहुंची थी।

पटना में आइआइटी की तैयारी करता है आरोपित

पूनम देवी ने कहा कि उन्हें नहीं मालूम, बेटे ने क्या किया है। चतरा पुलिस उनके दामाद पिंटू कुमार को लेकर पहुंची, जो चतरा में गिद्धौर का रहने वाला है। पुलिस ने पूछा कि अमित कहां है तो बताया कि वह पटना में आइआइटी की तैयारी कर रहा है। पुलिस ने पति के साथ अभद्र व्यवहार किया और गाड़ी में बिठा लिया।

एक कोचिंग सेंटर से मिला था पेपर

पूनम देवी ने बताया कि उन्होंने बेटे से पूछताछ की। उसने बताया कि उसके एक दोस्त ने पटना के ही एक कोचिंग सेंटर से पेपर लाकर दिया था। अमित ने दोस्त को बुलाया भी और जिस कोचिंग सेंटर से पेपर मिला, पुलिस को वहां चलने को बोला। लेकिन पुलिस कोंचिग सेंटर नहीं जाकर उसे झारखंड लेती चली गई।

गिरफ्तार आरोपित का पता नहीं बता रही पुलिस

पुलिस ने उनके बेटे को कहां रखा है, इसके बारे में कुछ स्पष्ट नहीं बता रहे हैं। पूछने पर थाना प्रभारी ने हजारीबाग बाल सुधार गृह भेजने की जानकारी दी, पर वह वहां नहीं था। वापस चतरा थाना पहुंचे तो पुलिस ने डांट कर भगा दिया। कुछ लोगों ने बताया कि उसे चतरा जेल भेजा गया है। उसके बारे में कुछ पता नहीं है। पूर्व पार्षद ने कहा कि पुलिस स्थानीय बाराचट्टी पुलिस को लिए बगैर पहुंची थी। पति को भी जबरन उठाकर पटना ले गई। रविवार को भी कोई जानकारी नहीं दी गई है।

You may also like

कांग्रेस का दलित-सवर्ण कार्ड में नहीं विश्वास : मदन मोहन

पटना। तकरीबन 11 महीने के लंबे अंतराल के बाद