डिटॉक्सीफिकेशन ही नहीं इम्युनिटी को भी बूस्ट करता है ये हरा फल, छुपे हैं इसमें अनेको फायदे

- in हेल्थ

कहते हैं कि आंवले का सेवन आप जिस रूप में करें, उसकी पोषकता कम नहीं होती है। चटनी के रूप में खाएं या सलाद में। न्यूट्रिशनिस्ट कविता देवगन कहती हैं, ‘ आंवला विटामिन सी से प्रचुर होता है। यह खाद्य पदार्थों से आयरन और कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाने में मदद करता है, इसलिए आयरन और कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थों जैसे- किशमिश, खुबानी, पोल्ट्री, तिल और डेयरी उत्पादों के साथ इसका सेवन जरूरी हो जाता है। आयुर्वेद में भी आंवले को स्वास्थ्य के लिहाज से बहुत फायदेमंद माना गया है। यह पाचन क्रिया को सुधारने के साथ ही खांसी को भी कम करता है। 

डिटॉक्सीफिकेशन ही नहीं इम्युनिटी को भी बूस्ट करता है ये हरा फल, छुपे हैं इसमें अनेको फायदे आधुनिक विज्ञान भी आंवले के गुणों का समर्थन करता है।’ सीनियर डाइटिशियन सीता लक्ष्मी आर. कहती हैं कि आंवला एल्कलाइन फूड है, जो पेट में अम्लीय स्तर को संतुलित करने और आंत को क्षारीय बनाने में मदद करता है। यही नहीं, आंवला लिवर की कार्यप्रणाली में भी सहायक होता है। फेफड़ों को मजबूत करता है और शरीर में सफेद रक्त कोशिकाओं की संख्या को बढ़ाता है, जोकि प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूती प्रदान करने के लिए जरूरी हैं। उच्च आयरन और कैरोटीन के कारण आंवले को त्वचा और बालों के लिए फायदेमंद माना जाता है। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर आंवला त्वचा की मृत कोशिकाओं को सही करता है और बालों को टूटने से रोकता है।’

You may also like

अगर आपके शरीर के इस हिस्से में होता है दर्द तो आपको होने वाला है कैंसर

कैंसर एक ऐसी अवस्था है जिसमें शरीर के