PNB घोटाला : नीरव-चोकसी की जल्द होगी गिरफ्तारी, रेड कॉर्नर नोटिस की तैयारी में CBI

- in राष्ट्रीय
सीबीआई पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाला मामले में भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कराने की तैयारी में है। एजेंसी के सूत्रों का कहना है कि सीबीआई इस मामले में इंटरपोल से संपर्क करेगी।

PNB घोटाला : नीरव-चोकसी की जल्द होगी गिरफ्तारी, रेड कॉर्नर नोटिस की तैयारी में CBI

मोदी और चोकसी के खिलाफ इस घोटाले में आरोपपत्र दाखिल किया है। पीएनबी ने मोदी की कंपनी के खिलाफ फर्जी तरीके से लेटर ऑफ अंडरटेकिंग और फॉरन लेटर्स ऑफ क्रेडिट जारी करने में कथित धोखाधड़ी की शिकायत सीबीआई से की थी। बैंक की तरफ से शिकायत करने से पहले ही मोदी, उसकी पत्नी एमी, भाई निशल और गीतांजलि ग्रुप का प्रोमोटर उसका मामा मेहुल चोकसी भारत छोड़कर जा चुके थे। 

सूत्रों का कहना है कि एजेंसी मोदी और चोकसी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कराने के लिए इंटरपोल से संपर्क करेगी, जिससे इन्हें मुकदमा चलाने के लिए भारत लाया जा सके। सूत्रों ने बताया कि रेड कार्नर नोटिस से इंटरपोल के सदस्य देशों की प्रवर्तन एजेंसियों को आरोपियों का पता लगाने और संबंधित देशों में उन्हें गिरफ्तार करने की अनुमति मिल जाएगी।

पीएनबी ने घोटाले का विवरण देने से इनकार किया

सार्वजनिक क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने उस ऑडिट या जांच के बारे में जानकारी देने से मना कर दिया है, जिससे बैंक में 13000 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी का पता चला।
एक आरटीआई के जवाब में पीएनबी ने जांच रिपोर्ट की प्रति साझा करने से मना कर दिया। पीएनबी ने आरटीआई आवेदन के जवाब में कहा, ‘चूंकि मामले की जांच केंद्रीय जांच एजेंसियां कर रही हैं। ऐसे में जो सूचना मांगी गई है, सूचना के अधिकार कानून, 2005 की धारा 8(1) (एच) के तहत उसकी जानकारी नहीं देने की छूट है।’ 

विलफुल डिफॉल्टर्स पर 15200 करोड़ बकाया
सरकारी क्षेत्र के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) का कहना है इस साल अप्रैल के अंत तक विलफुल डिफॉल्टर्स पर बैंक का बकाया बढ़कर 15199.57 करोड़ रुपये हो गया है। पीएनबी के अनुसार 2017-18 की अंतिम तिमाही में 13,400 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। इस घाटे का कारण धोखाधड़ी और बैड लोन था। इसमें 15171.91 करोड़ रुपये विलफुल डिफॉल्टर्स पर बकाया थे।

पीएनबी, गीतांजलि जेम्स के खिलाफ कार्रवाई पर विचार करेगा सेबी
बाजार नियामक सेबी 13 हजार करोड़ रुपये की बैंक धोखाधड़ी मामले में पंजाब नेशनल बैंक और गीतांजलि जेम्स के खिलाफ संदिग्ध कारोबार से संबंधित मुद्दों की जांच पूरी करने के बाद दंडात्मक कार्रवाई पर विचार करेगा।

बाजार नियामक ने धोखाधड़ी वाले लेनदेन के बारे में शेयर बाजार को जानकारी देने में देरी को लेकर पिछले सप्ताह पीएनबी को चेतावनी पत्र जारी किया। इस धोखाधड़ी को फरार चल रहे नीरव मोदी और गीतांजलि ग्रुप ऑफ कंपनीज ने अंजाम दिया। अधिकारियों के अनुसार जांच अभी जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सड़क पर चलना हो जाएगा महंगा, पेट्रोल के बाद 14% तक चढ़ सकते हैं CNG के दाम!

सड़क पर चलने वालों के लिए बुरी खबर है.