NEET-JEE : विपक्षी दल परीक्षा रुकवाने को हुए लामबंद

छात्र देशव्यापी धरने पर बैठेंगे
जुबिली न्यूज डेस्क
कोरोना महामारी के बीच सरकार द्वारा राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET)  और संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE) कराने के फैसले का चारों ओर से विरोध हो रहा है। जहां NEET-JEE परीक्षा रुकवाने के लिए अब कांग्रेस समेत कई राजनीतिक दल साथ आ गए हैं तो वहीं देशभर के छात्र इसका विरोध  करने वाले हैं और कल से देशव्यापी धरने पर बैठेंगे।
एक ओर इस परीक्षा का विरोध हो रहा है तो दूसरी परीक्षा की तैयारियां हो रही हैं। । हालांकि ऐसा कहा जा रहा है कि विरोध ज्यादा हुआ तो सरकार तारीखों पर विचार कर सकती है।
ये भी पढ़े:   गांधी परिवार के करीबी गुलाम ने क्यों लांघी वफादारी की सीमा रेखा?
ये भी पढ़े:   संसदीय कमेटियों को लोकसभा स्पीकर ने हड़काया, कहा-जो मामले राष्ट्रीय सुरक्षा…
ये भी पढ़े:  अर्थव्यवस्था को लेकर आरबीआई ने क्या कहा?
ये भी पढ़े:  आमिर खान पर आरएसएस ने क्या आरोप लगाया?

JEE की परीक्षा 1 से 6 सितंबर के बीच होगी और NEET की परीक्षा 13 सितंबर को कराई जाएगी।
विपक्षी दलों के मुख्यमंत्रियों की होनी है बैठक
NEET-JEE परीक्षा  रुकवाने के लिए सरकार पर दबाव बनाने को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने आज विपक्षी पार्टियों की सीएम की बैठक बुलाई है। हालांकि कहा जा रहा है कि महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे इस बैठक में शामिल नहीं होंगे।
ये भी पढ़े:  विकास दूबे केस से जुड़ा ऑडियो वायरल, जाने SO और SSP के बीच क्या हुई बात
ये भी पढ़े:  अमेरिका ने अपने नागरिकों से क्यों कहा कि भारत की यात्रा न करें
ये भी पढ़े:  बैंकों से धोखाधड़ी में कितने गुना का हुआ इजाफा?

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी से आग्रह किया था कि केंद्र को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दाखिल करनी चाहिए। मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना महामारी के दौरान JEE और NEET परीक्षा करवाने का आदेश दिया है।
एलजेपी भी कर रही है विरोध
एनडीए की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) भी कोरोना महामारी के बीच परीक्षा कराए जाने के खिलाफ है। पार्टी के नेता चिराग पासवान ने शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को पत्र लिखकर परीक्षा टलवाने की मांग की थी। इसके अलावा दिल्ली सरकार ने भी सरकार से इस परीक्षा को महामारी के दौरान नहीं करवाने का आग्रह किया है।
’80 प्रतिशत छात्रों ने डाउनलोड किए एडमिट कार्ड’
वहीं इस मामले में केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि अब तक 80 प्रतिशत छात्र  NTA JEE Mains 2020 परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड डाउनलोड (NEET 2020 Admit Card)  कर लिए हैं।

निशंक ने कहा कि कुल पंजीकृत 8.58 लाख छात्रों में से 7.25 लाख छात्रों ने एडमिट कार्ड डाउनलोड कर लिया है। इससे तो यही लग रहा है कि छात्र परीक्षा देने को तैयार हैं।
11 राज्यों के 11 छात्रों ने ये परीक्षाएं स्थगित करने के अनुरोध के साथ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। शीर्ष अदालत ने सभी का पक्ष सुनने के बाद 17 अगस्त को परीक्षा न कराने को लेकर दायर सभी याचिकाएं खारिज कर दी थी।
ये भी पढ़े:  थरूर के डिनर पार्टी में सोनिया को पत्र लिखने के लिए बनी थी भूमिका
ये भी पढ़े: कांग्रेस : लैटर बम फोड़ने वाले नेता क्या अब चुप बैठ जाएंगे?
ये भी पढ़े: सरकार के जॉब पोर्टल पर कितने लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन और कितनों को मिली नौकरी
ये भी पढ़े: …तो बंद होगी ऑनलाइन क्लास, हाईकोर्ट करेगा सुनवाई
जस्टिस अरुण कुमार मिश्रा की बेंच ने कहा था कि कोरोना वायरस के कारण देश में सब-कुछ नहीं रोका जा सकता है। कोर्ट ने तीखी टिप्पणी करते हुए कहा कि क्या देश में सब-कुछ रोक दिया जाए? और बच्चों के एक कीमती साल को यूं ही बर्बाद हो जाने दिया जाए?
कोर्ट ने कहा था कि कोरोना के कारण छात्रों का कीमती साल बर्बाद नहीं होने दे सकते हैं। बता दें कि ये दोनों परीक्षा 1-6 सितंबर के बीच होनी है।
केंद्र ने जारी की परीक्षा केंद्रों की लिस्ट
NTA ने साफ किया है कि परीक्षा को और नहीं टाला जा सकता है और NEET और JEE मेन परीक्षा निर्धारित तारीख को ही होगी। इस बीच,  JEE और NEET परीक्षाओं के लिए कल देर रात केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने राज्यवार परीक्षा केंद्रो की लिस्ट भी जारी कर दी है।
शिक्षा मंत्रालय की ओर से जारी लिस्ट में JEE परीक्षा केंद्र को 570 से बढ़ाकर 660 कर दिया गया है जबकि NEET परीक्षा केंद्र को 2846 से बढ़ाकर 3843 कर दिया गया है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button