NEET- JEE परीक्षा पर आक्रोश सड़कों तक पहुंचा तो अखिलेश क्या बोले

जुबिली न्यूज़ डेस्क
लखनऊ। बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए देश में जगह- जगह JEE- NEET परीक्षा को स्थगित करने की मांग तेज हो गयी है। आज यूपी की राजधानी लखनऊ में NEET- JEE के मुद्दे पर राजभवन जा रहे सपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया है। इस दौरान कई कार्यकर्ता घायल हुए हैं। प्रदर्शन की जानकारी मिलते ही भारी पुलिस बल राजभवन के बाहर मौजूद है।
जेईई और नीट परीक्षा कराए जाने के विरोध में समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ता सपा के प्रदेश कार्यालय से निकलकर राजभवन की तरफ बढ़ रहे थे। तभी पुलिस ने गौतमपल्ली चौराहे पर रोकने के लिए लाठीचार्ज किया, जिसमें कुछ कार्यकर्ताओं को हल्की चोटे भी आई हैं। पुलिस की बात मानने पर कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया।
ये भी पढ़े: एक रूपये नहीं दिया तो प्रशांत को भुगतनी होगी ये सजा
ये भी पढ़े: भारत- चीन सैनिकों के बीच फिर हुई झड़प

#WATCH लखनऊ: सितंबर महीने में NEET और JEE की परीक्षा कराने के खिलाफ प्रदर्शन कर रही समाजवादी पार्टी की छात्र विंग पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया और प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया। pic.twitter.com/6jOEvu03qm
— ANI_HindiNews (@AHindinews) August 31, 2020

कोरोना के बढ़ते केस के बीच जेईई और नीट परीक्षा होने को यूपी में विपक्ष लगातार हमलावर हैं। प्रतिदिन प्रदर्शन हो रहे हैं। इस कड़ी में आज भी समाजवादी छात्र सभा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं का दल राजभवन प्रदर्शन करने जा रहा था।
ये भी पढ़े: लता मंगेशकर की बिल्डिंग को BMC ने क्यों किया सील ?
ये भी पढ़े: Corona Update : मृत्यु दर घट कर पहुंची 1.78 फीसदी पर
जिसे पुलिस ने रोकने का प्रयास किया। इसमें पुलिस से नोकझोंक बढ़ गई। इस पर पुलिस ने इन कार्यकर्ताओं पर बल प्रयोग किया। बाद में इन कार्यकर्ताओं को गिरफ़्तार करके इको गार्डन ले गई है।

जिस प्रकार देशभर के परीक्षार्थियों ने अपनी ‘नापसंदगी’ दर्शाकर अपना रोष दर्ज किया है, उसने साफ़ कर दिया है कि चिंतित युवा और अभिभावक भी चाहते हैं कि सत्ताधारी अपना दंभ त्यागकर परिवारवालों की माँग सुनें. याद रहे पलटे हुए अंगूठे सत्ता भी पलट देते हैं.
ये जनतंत्र है; मनतंत्र नहीं.
— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) August 31, 2020

इसके बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा है कि जिस प्रकार देशभर के परीक्षार्थियों ने अपनी ‘नापसंदगी’ दर्शाकर अपना रोष दर्ज किया है, उसने साफ़ कर दिया है कि चिंतित युवा और अभिभावक भी चाहते हैं कि सत्ताधारी अपना दंभ त्यागकर परिवारवालों की माँग सुनें। याद रहे पलटे हुए अंगूठे सत्ता भी पलट देते हैं। ये जनतंत्र है; मनतंत्र नहीं।
ये भी पढ़े: राहुल ने बताया ‘मोदी सरकार ने कैसे नष्ट की अर्थव्यवस्था’
ये भी पढ़े: जानिए योगी सरकार ने अनलॉक 4.0 की गाइडलाइन में क्या बनाए नियम

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button