माेहन भागवत ने दिया हिंदुत्व के अंतरराष्ट्रीय विस्तार का मंत्र

समालखा (पानीपत)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संघचालक मोहन भागवत ने आज यहां हिंदुत्व के अंतरराष्ट्रीय विस्तार का मंत्र दिया। उन्होंने कहा कि अहंकार मुक्त सेवा कार्य से हिंदुत्व का वैश्विक विस्तार होगा। स्वयंसेवक यह न सोचें कि संघ बड़ा हो। जब बड़ा कार्य करेंगे तो संघ स्वयं बड़ा हो जाएगा।माेहन भागवत ने दिया हिंदुत्व के अंतरराष्ट्रीय विस्तार का मंत्र

संघ प्रमुख मोहन भागवत शनिवार को यहां पट्टीकल्याणा में सेवा-साधना, प्रशिक्षण और ग्राम विकास केंद्र की आधारशिला रखने के अवसर पर लोगों को संबोधित कर रहे थे। माना जा रहा है कि 24 एकड़ में बन रहा यह केंद्र संघ के नागपुर कार्यालय के बाद दूसरा बड़ा केंद्र होगा।

पानीपत के पट्टी कल्‍याणा में सेवा साधना केंद्र की नींव रखी, यह नागपुर के बाद संघ का दूसरा बड़ा केंद्र हाेगा

भागवत ने कहा कि सालों के चिंतन के बाद यह केंद्र खोला जा रहा है। यह समाज का समाज के लिए उद्यम है। सभी के सहयोग और विचार से जनहित में इसका निर्माण होगा। आपसी भाईचारा, आत्मीयता और सामाजिक समरसता को मजबूत और जरूरतमंद की सेवा करना संस्था का उद्देश्य है।

उन्होंने कहा कि भगवान ने हमें समाज सेवा के लिए शक्ति, सामर्थ्य और अवसर दिया है। हमें अहंकार को त्याग कर जनसेवा में सहयोग करना चाहिए। सेवा एक प्रक्रिया है, जिससे असमर्थ को समर्थ बनाया जा सकता है। यह पूर्व जन्म के पाप को धोने का तरीका भी है। उन्होंने गीता सार बताते हुए कहा, मेरा अपना कुछ नहीं है, जो है वह परमात्मा का है और यहीं के समाज और लोगों से लिया गया है।

भागवत ने कहा कि बिना साधना व तपस्या के ज्ञान की प्राप्ति नहीं हो सकती है। निष्काम सेवा महापुण्य का काम है। सेवा, साधना और चिंतन जीवन के पहिए हैं, जिससे जिंदगी की डोर चलती है। इसका दूसरा पर्याय नहीं हो सकता है। समाज में रहकर अपने कर्तव्य, कर्म और धर्म का ठीक से पालन करें तो हिमालय पर तपस्या करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। उन्होंने कहा कि आरएसएस देश में पौने दो लाख सेवा प्रकल्प कर रहा है। यह सेवा देश और विश्व के लिए किया जा रहा है।

इससे पूर्व प्रांत संघचालक पवन जिंदल ने सेवा साधना केंद्र में चलने वाली गतिविधियों सहित यहां उपलब्ध सुविधाओं के बारे में लोगों का जानकारी दी। इस अवसर पर मोहन भागवत संघ के पुराने स्वयंसेवकों से भी मिले। उन्‍होंने केंद्र परिसर में वृक्षारोपण भी किया। इस अवसर पर राज्य के परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार, श्रम मंत्री नायब सिंह सैनी, उद्योग मंत्री पीयूष गोयल, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन, स्वामी ज्ञानानंद और गुप्ति सागर महाराज सहित आरआरएस के पदाधिकारी और भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे। बाद में माेहन भागवत से मिलने मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल भी पहुंचे।

Patanjali Advertisement Campaign

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

मणिशंकर अय्यर की कांग्रेस में हुई वापसी, PM मोदी के खिलाफ की थी आपत्तिजनक टिप्पणी

नई दिल्ली । कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने