मायावती का बड़ा ऐलान, लोकसभा चुनाव में सपा और बसपा का होगा गठबंधन

- in राष्ट्रीय

नई दिल्ली : 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए बिसात बिछनी शुरू हो गई है. बसपा प्रमुख मायावती ने ऐलान कर दिया है कि लोकसभा चुनावों में उनकी पार्टी का समाजवादी पार्टी से गठबंधन होगा. इस समय कर्नाटक चुनाव में बसपा का गठबंधन जनता दल सेक्युलर के साथ है. विधानसभा चुनावों में बसपा जेडीएस के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है. कर्नाटक में ही मायावती ने इशारा कर दिया कि दोनों पार्टियों के बीच अगले आम चुनावों में गठबंधन होगा. हालांकि इसके लिए सीटों का बंटवारा होना बाकी है.मायावती का बड़ा ऐलान, लोकसभा चुनाव में सपा और बसपा का होगा गठबंधन

मायावती कर्नाटक विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जनता दल (सेक्युलर) के साथ एक रैली को संबोधित करने के लिए पहुंची थीं. यहां उनके साथ जेडीएस के कुमारस्वामी भी मौजूद थे. इसी रैली के दौरान एनडीटीवी से बातचीत में मायावती से जब सपा के साथ गठबंधन के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘वो तो आपको तो पता ही है. इस गठबंधन का बस ऐलान होना बाकी है.’ उनसे जब पूछा गया कि इसका ऐलान कब होगा, इस पर मायावती ने कहा, ‘ जैसे ही सीटों एडजस्टमेंट होगा, इस गठबंधन का ऐलान हो जाएगा.’

जेडीएस के कुमारस्वामी ने तो इस मौके पर मायावती को पीएम पद का उम्मीदवार भी बता दिया. जेडीएस के एक नेता कहा, ‘बहनजी अकेली नेता हैं जो पूरे देश में एक फिनोमेना हैं’  जेडीएस ने उन्हें तीसरे मोर्चे में पीएम पद का सशक्त दावेदार बताया. उनका कहना था कि मायावती वह ताकत रखती हैं, जो गैर-भाजपाई और गैर कांग्रेसी पार्टियों को एक झंडे तले एकत्र कर सकें.

इससे पहले फूलपुर और गोरखपुर चुनाव के समय भी मायावती ने समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार को अपना समर्थन देते हुए उम्मीदवार नहीं उतारा था. इन उपचुनावों में सपा के दोनों उम्मीदवारों ने जीत हासिल की थी. खासकर गोरखपुर में सपा उम्मीदवार के जीतने के बाद ही इस बात की संभावना बनने लगी थी कि दोनों दल एक साथ आएंगे. हालांकि तब मायावती ने कुछ स्पष्ट नहीं किया था. लेकिन अब बसपा प्रमुख मायावती के इस ऐलान से अगले चुनाव में भाजपा की चिंता बढ़ना स्वाभाविक है.

 
Patanjali Advertisement Campaign

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

भारत के पत्रकारों को लीक से हट कर करना होगा काम : श्री श्री रविशंकर जी

आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर