धनकारक नक्षत्र: भाई बहन के लिए समृद्धि देने वाला रहेगा ये त्यौहार

- in धर्म

श्रावणी पूर्णिमा रविवार के दिन धनिष्ठा नक्षत्र की साक्षी में आ रही है। धनिष्ठा पंचक का नक्षत्र है। पूर्णिमा के दिन आने से धार्मिक कार्यों में इसका पांच गुना शुभफल मिलेगा। धर्म शास्त्र में धनिष्ठा नक्षत्र को धनकारक नक्षत्र माना गया है। ज्योतिषियों के अनुसार इस नक्षत्र में राखी का आना बहन भाई दोनों के लिए समृद्धि देने वाला रहेगा।

ज्योतिषाचार्य पं.अमर डब्बावाला ने बताया पंचागीय गणना से देखे तो इस बार राखी रविवार के दिन पंचक के नक्षत्र धनिष्ठा में आ रही है। पूर्णिमा तिथि पर पंचक का नक्षत्र विशेष योग कारक होता है। मान्यता अनुसार पर्व काल के लिए यह पांच गुना अधिक शुभफल प्रदान करने वाला माना गया है। क्योंकि पूर्ण तिथि पूर्णिमा पर योग, दिवस तथा नक्षत्र यदि मध्यान पर्यंत हो तो इसकी शुभता और भी बढ़ जाती है। इस दिन शुभ मुहूर्त में भाई की कलाई पर रक्षासूत्र बांधने से बहन व भाई दोनों को सुख समृद्धि प्राप्त होगी।

खरीदी के लिए शुभ दिन, पांच बार और बनेंगे योग

पं.डब्बावाला के अनुसार धनकारक योग में वस्तुओं की खरीदी पांच बार पुनरावृत्ति कराती है। इसलिए रक्षा बंधन पर सोने,चांदी के आभूषण, भूमि, भवन, वाहन तथा इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पाद की खरीदी श्रेयष्कर रहेगी। इस दिन बहनों के लिए वस्त्र आदि की खरीदी भी शुभफलदायी मानी गई है।

कुंवारे लड़के को कभी नही बनाना चाहिए शादीशुदा भाभी से संबंध, वरना जिन्दगी भर मिलती है ये सजा

महाकाल को लगेगा सवा लाख लड्डुओं का महाभोग

श्रावणी पूर्णिमा रक्षाबंधन पर विश्व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में तड़के 4 बजे भस्मारती में भगवान महाकाल को सवा लाख लड्डुओं का महाभोग लगाया जाएगा। पं.आशीष पुजारी ने बताया भक्तों को दिनभर महाप्रसादी का वितरण होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

एक बार महादेवजी धरती पर आये, फिर जो हुआ उसे सुनकर नहीं होगा यकीन…

एक बार महादेवजी धरती पर आये । चलते