बैंगलोर के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में शनिवार को आरसीबी और दिल्ली के बीच खेले गए मैच में आरसीबी ने जीत हासिल की. इस मुकाबले में दिल्ली के युवा खिलाड़ी ऋषभ पंत ने दमदार प्रदर्शन किया. आरसीबी के बल्लेबाज मनदीप सिंह को पंत के छक्के जड़ने के कौशल में अनुभवी युवराज सिंह की झलक नजर आती है. आरसीबी के खिलाफ दिल्ली डेयरडेविल्स की छह विकेट की हार के दौरान पंत ने 48 गेंद में 85 रन की पारी खेली. हालांकि आरसीबी ने एबी डिविलियर्स की 39 गेंद में नाबाद 90 रन की पारी की बदौलत आसान जीत दर्ज की. मनदीप ने कहा, ‘‘ऋषभ शानदार है. जब हम बड़े हो रहे थे तो हम युवराज सिंह के बारे में बात करते थे. युवी पा आसानी से किसी से भी अधिक बड़े छक्के जड़ते थे. मुझे लगता है कि मौजूदा पीढ़ी में पंत उनमें से एक नाम है, जो उनकी (युवराज) तरह छक्के जड़ सकता है.’’

टीम के साथी डिविलियर्स के बारे में पूछने पर मनदीप ने कहा, ‘‘एबी के बारे में मैं क्या कह सकता हूं. एबी तो एबी है. वह कुछ ऐसा कर सकता है जो कोई नहीं कर सकता. मैं भाग्यशाली हूं कि उसके साथ खेल रहा हूं और उनकी सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक देखी. मैं सिर्फ इतना ही कह सकता हूं.’’ हालांकि मनदीप ने दोहराया कि आरसीबी सिर्फ कप्तान विराट कोहली या डिविलियर्स पर निर्भर नहीं हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘जब आपके पास दुनिया के दो सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज होते हैं तो यह स्वाभाविक है कि अन्य खिलाड़ियों को हल्के में लिया जाता है. हम उन पर अधिक निर्भर नहीं हैं लेकिन दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज होने के कारण आकर्षण वही होते हैं जो स्वाभाविक है.”

IPL: हैदराबाद की गेंदबाज़ी और चेन्नई की बल्लेबाज़ी के बीच है आज बड़ी जंग

गौरतलब है कि शनिवार को बैंगलोर में दिल्ली और आरसीबी के बीच खेले गए मैच में आरसीबी ने 6 विकेट से शानदार जीत हासिल की. इस मैच में दिल्ली के युवा बल्लेबाज ऋषभ पंत ने दमदार प्रदर्शन किया. दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 174 रन बनाए. इस दौरान पंत ने 48 गेंदों का सामना करते हुए 7 छक्कों और 6 चौकों की मदद से 85 रन की आक्रामक पारी खेली. वहीं उनके साथी खिलाड़ी श्रेयस अय्यर ने 31 गेंदों में 3 छक्कों और 4 चौकों की मदद से 52 रन की पारी खेली.

इसके जवाब में उतरी आरसीबी ने 18 ओवर में 4 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया. आरसीबी की तरफ से एबी डिविलियर्स ने 39 गेंदों का सामना करते हुए 5 छक्कों और 10 चौकों की मदद से नाबाद 90 रन बनाए. कप्तान कोहली ने 26 गेंदों में 30 रन बनाए और पवेलियन लौट गए.