जानिए कैसे नवरोज स्पेशल में बनाइए पत्रा नी मच्छी

- in खाना -खजाना

पत्रा नी मच्छी पारसी समुदाय का पारंपरिक खाना है. इसे वे पारसी नव वर्ष में जरूर बनाते हैं. जिसे नवरोज कहा जाता है. नवरोज में ‘नव’ का मतलब ‘नया’ और ‘रोज’ का मतलब ‘दिन’ होता है. इस दिन पारसी लोग अपने मंदिरों को रौशन करते हैं घरों के आगे रंगोली बनाकर इस दिन को सेलिब्रेट करते हैं. इसके साथ इस दिन पारंपरिक पकवान बनाने का रिवाज है जिसमें रबो,पत्रा नी मछली और फलूदा आदि शामिल हैं. जानिए पत्रा नी मच्छी बनाने की सबसे आसान विधि…

जानिए कैसे नवरोज स्पेशल में बनाइए पत्रा नी मच्छीएक नज़र
रेसिपी क्विज़ीन : इंडियनकितने लोगों के लिए : 2 – 4समय : 15 से 30 मिनटकैलोरी : 545मील टाइप : नॉन-वेज
आवश्यक सामग्री
चार पॉम्फ्रेट मछली
आधा कप कद्दूकस किया नारियल
आधा कप धनियापत्ती, बारीक कटी हुई
आधा कप पुदीनापत्ती, कटे हुए
दो छोटी चम्मच जीरा पाउडर
लहसुन की 4-5 कलियां
दो बड़े चम्मच नींबू का रस
दो केले के पत्ते
दो हरी मिर्च
नमक स्वादानुसार
एक बड़ा चम्मच चीनी
एक स्टीमर
विधि
– सभी पॉम्फ्रेट को बीच से काट कर अच्छी तरह साफ कर लें. इनके ऊपरी हिस्से पर दो-तीन चीरा लगा लें.
– अब इस पर नींबू का रस छिड़क कर 10 मिनट तक फ्रिज रख दें. 
– चटनी बनाने के लिए धनिया, पुदीनापत्ती, नारियल, मिर्च, लहसुन, जीरा, बचे हुए नींबू रस, चीनी, नमक और एक बड़ा चम्मच पानी के साथ मिक्सर में पीस लें. 
– अब केले के पत्ते को तीन टुकड़ों में काट लें और धीमी आंच पर हलका सा सेंक लें ताकि यह नरम हो जाएं.
– फ्रिज से पॉम्फ्रेट फिश के टुकड़े को निकाल लें और पत्ते बीच में रख कर दोनों तरफ से चटनी लगाकर पत्ते को मोड़कर पैकेट बना लें.
– अब स्टीमर में 2 कप पानी डालकर मीडियम आंच पर गरम होने के लिए रखें.
– स्टीमर प्लेट पर केले के पत्ते का पैकेट रखें और इसे स्टीमर पर रखकर दें.
– 10 मिनट तक ढककर स्टीम कर लें.
– तय समय बाद आंच बंद कर दें और स्टीमर के ठंडा होने दें.
– तैयार पत्रा नी मच्छी को पत्ते सहित प्लेट पर सर्व करें.

You may also like

अब ब्रेकफॉस्ट में ट्राय करें हेल्दी और टेस्टी रेसिपी ‘काला चना ऊसल’

सामग्री : सूखे काले चने- 2 कप (भीगे