पीरियड्स में शारीरक संबंध बनाने से होने वाले फायदे जानकर कान खड़े हो जायेंगे…

हेल्थ : पीरियड्स के दौरान शारीरिक संबंध बनाने को लेकर लोगो में कई गलतफहमिया हैं ,  हालाकी इसकी सही जानकारी नहीं होने से इस पर कम ही बात की जाती हैं . महिलाओ के लिए यह दिन सबसे कठिनाइयों भरा होता हैं .

पीरियड्स में शारीरक संबंध बनाने से होने वाले फायदे जानकर कान खड़े हो जायेंगे...

कई लोगों का मानना है कि पीरियड्स में यौन संबंध बनाना हाइजीनिक नहीं होता और साथ ही इसमें अधिक दर्द भी होता है। लेकिन हाल ही में आई एक स्टडी के मुताबिक पीरियड्स के दौरान संबंध बनाने से महिलाओं के प्रजनन तंत्र को भी लाभ मिल सकता है।

अमेरीका की मिशिगन यूनिवर्सिटी में हुए एक शोध के अनुसार पीरियड्स में यौन संबंध बनाने से महिलाओं के पीरियड्स के दिन कम हो सकते हैं। अंग्रेजी वेबसाइट दी सन डॉट को डॉट यूके में छपी रिपोर्ट के मुताबिक पीरियड्स के दौरान संबंध बनाने से महिलाओं को अनगिनत शारीरिक लाभ मिलते हैं।

इस कारण से महिलाएं नहीं फोड़ती नारियल, ये है पौराणिक कहानी

– उन्हें पीरियड्स के दर्द में होता है। वे महिलाएं जो पीरियड्स में भी संबंध बनाती हैं, उन्हें पीरियड्स के दर्द से जल्दी राहत मिलती है। उनके पीरियड्स क्रैम्पस आसानी से रिलीज हो जाते हैं।

–पीरियड्स में संबंध बनाते समय महिलाओं के रिलीज होने वाले ऑर्गेज्म के साथ बॉडी ऑक्सीटॉसिन और डोपामाइन भी निकल जाता है। इन दोनों के रिलीज होने से पीरियड्स पेन में राहत मिलती है।

–वे महिलाएं जो पीरियड्स पेन से बचने के लिए पेन किलर लेती हैं, उनके लिए इस दौरान संबंध बनाना सबसे अधिक लाभदायक बताया गया है। मिशिगन यूनिवर्सिटी की स्टडी के अनुसार ऑर्गेज्म से जो हार्मोन्स रिलीज होते हैं वे दर्द कम करने में पेन किलर से भी अधिक तेजी से काम करते हैं।

– पीरियड्स में यौन संबंध बनाते समय ‘ल्यूब’ की जरूरत नहीं होती है।

-शोध के अनुसार वे कपल जो पीरियड्स में यौन संबंध बनाते हैं उनका रिश्ता अधिक मजबूत होता है। इसके पीछे शोध में कारण भी स्पष्ट किया गया है। असल में पीरियड्स के दौरान कपल एक दूसरे से दूरी बना लेते हैं। ऐसे में घृणा ना करते हुए अगर वे क्लोज आएं तो ये उनके रिश्ते को मजबूती देता है।

-शोध के मुताबिक पीरियड्स में संबंध बनाने वाले कपल अपने कम्फर्ट जोन से बाहर आते हैं। एक दूसरे को हर हालत में अपनाने के लिए तैयार बन पाते हैं।

-शोधकर्ताओं का कहना है कि जाहिर है कि वे कपल जो पहली बार इस तरह के समबन्ध बनाने की कोशिश करते हैं उनके लिए ब्लडशीट स्टेन को पहली बार झेलना मानसिक रूप से आसान नहीं होता है, लेकिन पहले अनुभव के कारण इसे करना बंद ना करें। इसके स्वास्थ्य को मिलने वाले लाभ को ध्यान में रखते हुए दोबारा ट्राई करें। कुछ समय के बाद यह अटपटा नहीं लगेगा।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button