खजांची अखिलेश की 50 किमी साइकिल यात्रा को दिखाएगा हरी झंडी

लखनऊ। समाजवादी पार्टी अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव अगले माह कन्नौज से साइकिल यात्रा की शुरुआत करेंगे। 50 किलोमीटर लंबी यात्रा कन्नौज की ठठियामंडी से शुरु हो आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की हवाईपट्टी पर संपन्न होगी। अखिलेश साइकिल यात्रा को खजांची परिवार झंडी दिखाएगा। खजांची वह है, जिसका जन्म नोटबंदी के दिनों में बैंक की लाइन में लगी महिला के प्रसव हो जाने पर हुआ था और तत्कालीन मुख्यमंत्री यादव ने ही उसे खजांची नाम दिया था।   खजांची अखिलेश की 50 किमी साइकिल यात्रा को दिखाएगा हरी झंडी

चुनावी बिगुल फूंकेंगे

राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी ने बताया कि साइकिल यात्रा की घोषणा पूर्व मुख्यमंत्री ने पांच अगस्त को की थी। इस यात्रा के जरिये जनसंपर्क में भाजपा की जनविरोधी नीतियों को उजागर करेंगे और समाजवादी सरकार की उपलब्धियों का प्रचार किया जाएगा। विस्तृत कार्यक्रम जल्द ही घोषित होगा, अन्य क्षेत्रों में प्रमुख नेताओं द्वारा साइकिल यात्राएं जारी है। साइकिल यात्रा के जरिये अखिलेश यादव अपने संसदीय क्षेत्र में लोकसभा चुनाव की तैयारी का शंखनाद भी करेंगे। भाजपा के संपर्क फार समर्थन अभियान का जवाब दिया जाएगा। भाजपा की विफलताओं और सपा की सफलता का प्रतीकात्मक प्रचार होगा। नोटबंदी, जीएसटी जैसे मुद्दों पर भाजपा को घेरेंगे और अपने किए विकास कार्यो को दर्शाएंगे। इसीलिए साइकिल यात्रा का समापन आगरा- लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर उस स्थान पर किया जाएगा, जहां सैनिक हवाई जहाज उतारे गए थे। हाईटेक वीडियो रथ से सपा शासन की उपलब्धियों का गुणगान होगा। 

2012 जैसा वातावरण बनाने की तैयारी

समाजवादी पार्टी ने अखिलेश की यात्राओं से वर्ष 2012 जैसा माहौल बनाने कीे रणनीति तय की है। तब साइकिल यात्रा के जरिये ही राजनीतिक परिवर्तन की जमीन तैयार की थी। यात्राओं में मुख्य संगठन के अलावा फ्रंटल संगठनों खासतौर से युवाओं को लगाया जाएगा। राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी ने बताया कि भाजपा का संपर्क फार समर्थन अभियान केवल विशिष्ट लोगों तक सीमित रहा था। गांव-गरीब व जनसाधारण से उनका कोई वास्ता नहीं रहा। अखिलेश कानून व्यवस्था, गंगा स्वच्छता अभियान, मंहगाई, बेरोजगारी व मंहगी बिजली जैसे मुद्दों पर जनसामान्य से सीधा संवाद करेंगे।

यासीन अल्पसंख्यक सभा के अध्यक्ष 

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने समाजवादी पार्टी की अल्पसंख्यक सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर मौलाना यासीन अली उस्मानी निवासी जामा मस्जिद रोड बदायूं को नामित करते हुए जल्द कार्यकारिणी गठित करने को कहा है। 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

राम मंदिर निर्माण में देरी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जिम्मेदार : शिवसेना

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की पुरजोर वकालत