LG के खिलाफ केजरीवाल कैबिनेट का धरना जारी…

- in दिल्ली

आम आदमी पार्टी ने एलजी दफ़्तर की बजाय अब मुख्यमंत्री आवास पर प्रदर्शन करने की रणनीति तैयार की है. केजरीवाल अपने मंत्रियों के साथ अब 6 फ्लैग स्टाफ रोड यानी सीएम आवास पर धरना करेंगे. आम आदमी पार्टी ने अपने विधायकों, नेताओं और कर्ताकर्ताओं को सीएम आवास पर पहुंचने के लिए संदेश जारी किया है.LG के खिलाफ केजरीवाल कैबिनेट का धरना जारी...

आप नेता सत्येंद्र जैन ने अनिश्चितकाल अनशन शुरू कर दिया है. आम आदमी पार्टी ने एलजी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन की बड़ी तैयारी की है. आप कार्यकर्ता सीएम हाउस से एलजी हाउस तक पैदल मार्च भी निकाल सकते है.

बता दें कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने मंत्रियों के साथ एलजी दफ्तर में पिछले 18 घंटों से धरना दे रहे हैं. मंगलवार की सुबह केजरीवाल ने एक तस्वीर सोशल मीडिया पर साझा करते हुए लिखा कि संघर्ष जारी है. साथ ही मनीष सिसोदिया ने ट्वीट के माध्यम से एलजी पर कई बड़े आरोप लगाए हैं.

ये हैं AAP की 3 मांगें

– एलजी खुद IAS अधिकारियों की गैरकानूनी हड़ताल तुरंत खत्म कराएं, क्योंकि वो सर्विस विभाग के मुखिया हैं.

– काम रोकने वाले IAS अधिकारियों के खिलाफ सख्त एक्शन लें.

– राशन की डोर-स्टेप-डिलीवरी की योजना को मंजूर करें.

वहीं उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर पर एलजी को अधिकारियों की वजह से रुके हुए कामकाज की याद दिलाई है. सिसोदिया ने कहा कि स्कूलों में व्हाइट वॉश का काम होना था, आपके IAS अधिकारियों की हड़ताल के चलते ये काम शुरू ही नहीं हुआ. बड़ी मुश्किल से सरकारी स्कूलों की चमक लौटनी शरू हुई थी. इसका काम बंद करवाकर आप कह रहे हैं कि IAS अफसर काम तो कर रहे हैं.

फ़िलहाल एलजी दफ़्तर के बाद मुख्यमंत्री आवास पर तमाम कार्यकर्ताओं, नेताओं और विधायकों को बुलाया गया है. गौरतलब है कि रात केजरीवाल और उनके मंत्री एलजी दफ़्तर के वेटिंग रूम में मौजूद रहे. हालांकि अब सवाल यह उठता है कि क्या एलजी अनिल बैजल दोबारा मुख्यमंत्री एंड टीम से मुलाक़ात करेंगे? आपको बता दें कि सोमवार को 5:30 बजे एलजी ने सीएम केजरीवाल और मंत्रियों के साथ बैठक की थी.

Patanjali Advertisement Campaign

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सावधान: ब्लू व्हेल के बाद अब इस गेम ने बजाई खतरे की घंटी, सेल्फी से होती है शुरुआत

सोशल मीडिया किस तरह से बच्चों के जीवन