KANPUR NEWS: एक क्लिक में पढ़ें कानपुर की ताजा खबर

कानपुर गोशाला कमेटी के समझौते का होगा चुनाव

कानपुर। गौशाला कमेटी के चुनाव अब समझौते के आधार पर होंगे। शराब व्यवसायी तिलकराज शर्मा का अध्यक्ष व महामंत्री पुरुषोत्तम तोषनीवाल का बनना तय है। उनके पद पर किसी ने भी नामांकन नही कराया है। नामांकन फार्म आम सहमति के आधार पर लिए गए है। जिसमें दोनों गुटों ने, संयुक्त रुप से एक साथ समझौते के आधार पर,अलग-अलग पदों पर नामांकन फार्म लिए है।

अध्यक्ष पद पर तिलक राज शर्मा एवं महामंत्री पद पर पुरुषोत्तम तोषनीवाल है। उपाध्यक्ष पद पर चार उम्मीदवार है। जिनमें सुरेश गुप्ता एवं काशी प्रसाद शर्मा एवं अवधेश बाजपेई एवं रामगोपाल तुलसियान एवं 02 मंत्री पद पर 02 ही- जिनमें धर्मेंद्र बहादुर सिंह एवं अवध बिहारी मिश्रा तथा 16 कुल कार्य समिति के सदस्यों के कुल 16 पद में से,केवल 14 लोगों ने नामांकन फार्म लिये। दो शेष रह गए।जिन्हें बाद में चुनाव के बाद कार्यकारिणी द्वारा नामित किया जाएगा।

14 नामों में-नीरज दीक्षित, किशन भगत, बाबूलाल साडा, लाडली प्रसाद, शेष नारायण त्रिवेदी, कृष्ण गुप्ता बब्बू, अरविंद मित्तल, सुबोध अग्रवाल,हेमंत दुबे, स्रोत कुमार, शैलेंद्र त्रिपाठी, ऋषि कत्याल, मनोहरलाल आहूजा, दिवाकर मिश्रा है। इसके सिवा और कोई भी नामांकन फार्म किसी के भी द्वारा, नहीं लिया गया। विशेष यह रहा कि,01पद कोषाध्यक्ष के लिए,02 नामांकन पत्र खरीदे गए। जिनमें धर्म प्रकाश गुप्ता एवं विजय पांडे ने नामांकन पत्र लिया।

नामांकन पत्र लेने के पूर्व हुई बैठक में, सभी सदस्यों ने, वर्तमान कमेटी तथा दोनों गुटों के सदस्यों ने मिलकर के,यह तय किया था कि, आम सहमति जिस नाम पर बनेगी,वही नाम नामित हो जाएगा। तथा दूसरे व्यक्ति को सब का आदर करते हुए और गौशाला के हित में, गौ सेवा के भाव से, अपने नाम को वापस लेना होगा। जिसके आधार पर,अब आगे बैठ कर के, यह निर्णय भी अध्यक्ष तिलक राज शर्मा जी और तोषनीवाल जी महामंत्री जी के साथ, कमेटी के लोगों द्वारा बैठकर निर्णय ले लिया जाएगा।

आगामी 25 तारीख को नामांकन फार्म जमा करने की तिथि है।26 को नाम वापसी  है तथा 27 को नामांकन पत्रों की जांच होगी और आवश्यकतानुसार 28 को मतदान या परिणाम दोनों की ही घोषणा 28 को पूर्ण हो जाएगी।

लाइसेंसी रिवाल्वर से एक ज्वैलर्स ने गोली मारकर की आत्महत्या

कानपुर। नोबस्ता थाना क्षेत्र में मंगलवार को एक ज्वेलर्स ने अपनी ही लाइसेंसी रिवाल्वर से कनपटी में गोली मारकर आत्महत्या कर ली। इसका कारण नही पता चल सका है। पुलिस ने शव को पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

नोबस्ता में रहने वाले ज्वेलर्स के कमरे में गोली की आवाज सुनकर घरवाले दौड़े। उनको खून से लथपथ देखकर तत्काल हैलट लेकर भागे, जंहा पर डॉक्टरों ने उनको मृत्यु घोषित कर दिया। आत्महत्या में ज्वेलर्स ने अपने ही लाइसेंसी रिवाल्वर का इस्तेमाल किया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

निजीकरण और निगमीकरण के खिलाफ प्रदर्शन, INDWF, AIDEF और BPMS शामिल

कानपुर। किला मजदूर यूनियन, इंप्लाइज यूनियन और ओईएफ़ मजदूर संघ क़े संयुक्त मोर्चे क़े तत्वाधान में मँगलवार को ओईएफ़ मुख्य द्वार फूलबाग पर प्रदर्शन कर नारेबाजी की गई। इस दौरान सभी कर्मचारियों ने ब्लैक बैजेस लगाकर नेशनल प्रोटेस्ट डे मनाया गया। सभी नेताओं और कर्मचारियों ऩे केंद्र सरकार की श्रम विरोधी और आयुध निर्माणियों क़े निगमीकरण क़े विरोध में प्रधानमंत्री और रक्षा मन्त्री को जमकर कोसा।

संयुक्त मोर्चे क़े नेता सिद्धनाथ तिवारी,पी.क़े चटर्जी, योगेंद्र चौहान ने कहा कि केंद्र सरकार की पूंजीवादी नीति क़े चलते आज पूरे देश की अर्थव्यवस्था चौपट हो गई है। सबको नौकरियों से निकाला जा रहा है़। कोविड-19 जैसी आपदा को अवसर मानते हुए केंद्र सरकार श्रम कानूनों में संशोधऩ करने क़े साथ सभी सरकारी संस्थानों और प्रतिष्ठानों को बेचने पर आमादा है। आज केंद्र सरकार की पूंजीवादी नीति क़े चलते सभी की रोजी-रोटी पर संकट खड़ा हो गया।

रक्षा जैसे संवेदनशील क्षेत्र की 219 वर्ष की और कोविड-19 से निपटने में अहम भूमिका निभाने वाली आयुध निर्माणियों को आज केंद्र की तानाशाह और पूंजीपतियों की सरकार निगमीकरण कर बेचना चाह रही है़। जो कि देश की सुरक्षा क़े लिहाज से बहुत ही घातक कदम सिद्ध होगा। अगर समय रहते देश का युवा, किसान,मजदूर नहीं चेता। तो देश में फिर से जमींदारी प्रथा लागू होने से कोई नहीं रोक सकता। अब समय आ गया है कि देश का बेरोजगार, किसान, सड़को पर उतरे।

प्रदर्शन क़े दौरान मुख्य रूप से समीर बाजपेई, शिव कुमार सिंह, जफर अहमद,देवेंद्र शर्मा, जमालुद्दीन, शिवकुमार पाल, रामशरण त्रिपाठी, आलोक भट्ट, रोहित तिवारी, अनिल वर्मा,पुनीत गुप्ता, संजय गुप्ता, एहसान हुसैन, मोहम्मद सलीम, मिथिलेश प्रसाद,रवि द्विवेदी,प्रदीप शर्मा, रामकुमार, अखिलेश सिंह चौहान, दीपक गौड़,महेंद्र नाथ,सी.पी. यादव, राजेंद्र सोनकर,सुधीर कुमार आदि मौजूद थे।

कानपुर में एक दिन में सामने आए 308 नए केस, 4 की मौत

कानपुर। शहर में कोरोना सनकर्मनवने जेल सहित कई नए क्षेत्रों में पैर पसार लिए है। मंगलवार को 304 नए केस सामने आए और एक महिला समेत 4 उम्रदराज मरीजों की मौत हो गयी। अब कंपूर्वसंक्रमितों की संख्या 11219 हो गयी और मरने वालों का आंकड़ा 334 पहुँच गया है

कोरोना समस्या बढ़ने के बाद बहुत जगह तो लोग मास्क व सोशल डिस्टेंडिंग का भी पालन नही कर रहे है। स्वास्थ्य विभाग के साथ एक अखबार की वेन भी कोरोना की निशुल्क जांच करने आज निकले।

सीएमओ अनिल मिश्रा के मुताबिक आज शहर के विभिन्न क्षेत्रों में 308 नए कोरोना संक्रमित केस सामने आए है जबकि 4 लोगों की मौत मंगलवारको हुई है। अब मरने वालों की संख्या 334 हो गयी है जबकि कोरोना संक्रमित का आंकड़ा 112219 11 हो गया है जबकि 81 मरीज विभिन्न अस्पतालों से डिस्चार्ज किए गए।

पंडालों में नहीं विराजेंगे गणपति, मोहर्रम जुलूस भी नही

कानपुर। कानपुर में कोरोना संक्रमण बढ़ने के कारण इस बार पंडालों में गणपति नही विराजेंगे और न ही चौक में ताजिए व मोहर्रम का जुलूस भी नही निकलेगा। यह निर्णय मंगलवार देर शाम  जिलाधिकारी व डीआईजी/एसएसपी आदि अफसरों ने शहर के विभिन्न धर्माचार्यो के साथ बैठक में लिया।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button