जन्माष्टमी: पूजन में अवश्य शामिल करें ये 5 चीजें

 हिंदू पंचांग के अनुसार, भगवान श्रीकृष्ण का जन्म भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को हुआ था। इस दिन लोग कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार मनाते हैं। इस साल कृष्ण जन्माष्टमी 18 और 19 अगस्त दो दिन मनाई जाएगी। जानें ज्योतिषाचार्य के अनुसार, जन्माष्टमी की पूजा में बाल गोपाल की किन अतिप्रिय चीजों को करना चाहिए शामिल

1. मोर पंख- भगवान श्रीकृष्ण के सिर पर मोर पंख सुशोभित है। इसलिए जन्माष्टमी की पूजा में मोरपंख रखना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का वास होता है।

2.  माखन व मिश्री- शास्त्रों के अनुसार, कन्हैया को माखन व मिश्री अतिप्रिय है। माखन वह चोरी करके भी खाया करते थे। इसलिए जन्माष्टमी की पूजा में भगवान श्रीकृष्ण को माखन व मिश्री का भोग लगाना चाहिए।

3. धनिया की पंजीरी- ज्योतिषाचार्यों का मानना है कि घर में इस्तेमाल होने वाला धनिया धन से संबंधित है। भगवान श्रीकृष्ण की पूजा में पिसे हुए धनिया का विशेष महत्व है। इसलिए जन्माष्टमी की पूजा में धनिया की पंजीरी बनानी चाहिए।

4. बांसुरी- बाल गोपाल को बांसुरी अतिप्रिय है। इसलिए जन्माष्टमी की पूजा में बांसुरी को भी रखना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से भगवान श्रीकृष्ण की कृपा से भक्तों की मनोकामना पूरी होती है।

5. गौ माता की प्रतिमा- भगवान श्रीकृष्ण ने अपना बचपन गौ सेवा में बिताया है। इसलिए कान्हा को लगने वाले भोग को गाय के शुद्ध घी में बनाना चाहिए। जन्माष्टमी पूजा में गौ माता की प्रतिमा भी रखनी चाहिए।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button