नहीं छूट रहा है होली के रंग तो अपनाये यह घरेलू नुस्खा, रंग का नामो-निशान भी नहीं दिखेगा

- in जीवनशैली

रंगों के त्योहार होली पर सभी खूब मस्ती करते हैं. एक दूसरे को रंग और गुलाल लगाकर सभी खुशियां मनाते हैं. लेकिन केमिकल वाले रंग त्वचा और बालों के लिए हानिकारक होते हैं. जब तक आप होली खेल रहे होते हैं तब तक आपको बहुत मजा आता है लेकिन होली खत्म होने के बाद रंगों से छुटकारा पाना बहुत मुश्किल होता है. केमिकल वाले रंगों का स्किन पर भी बुरा असर पड़ता है. इस आर्टिकल में हम आपको उन नुस्खों के बारे में बताएंगे जिनके जरिए रंगों से छुटकारा पाना आसान हो जाता है. साथ ही इस तरीके से आपकी स्किन को भी नुकसान नहीं पहुंचता है.

नहीं छूट रहा है होली के रंग तो अपनाये यह घरेलू नुस्खा, रंग का नामो-निशान भी नहीं दिखेगा

केमिकल वाले कलर से बचें
रंगों का असर नाखूनों पर सबसे ज्यादा पड़ता है. इसलिए होली खेलने से पहले नाखूनों को काट लें और उसपर वैसलीन लगा लें. वैसलीन लगा लेने के बाद आपके नाखूनों पर रंग का असर नहीं दिखेगा और आपके हाथ खराब नहीं दिखेंगे. हर किसी को केमिकल वाले कलर से बचने की कोशिश करनी चाहिए. इसके अलावा रंग का इस्तेमाल करने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि उसमें कोई रफ चीज ना मिली हो. सही रंगों का चुनाव कर स्किन को होने वाले नुकसान से बचा जा सकता है.

बेसन, नींबू और दूध का इस्तेमाल: रंग खेलने के बाद बारी आती है उसे छुड़ाने की. होली के रंगों को मिटाने में बेसन, नींबू और दूध का इस्तेमाल किया जा सकता है. इस्तेमाल करने के लिए तीनों को मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें. रंग खेल लेने के बाद इस पेस्ट को रंग वाली जगहों पर लगा कर 15-20 मिनट के लिए छोड़ दें. पेस्ट के सूख जाने के बाद स्किन धो लें. स्किन पूरी तरह साफ हो जाएगी.

रोज इस्तेमाल होने वाले इन टेक्निकल टर्म्स के फुल फॉर्म के बारे में कितना जानते हैं आप

खीरे का रस: होली के रंगों को छुड़ाने में खीरे का रस बहुत असरदार होता है. खीरे के रस में गुलाब जल और एक चम्मच साइडर विनेगर को मिला कर लेप तैयार कर लें. इस पेस्ट को चेहरे पर लगा लें और कुछ देर के बाद चेहरा धो लें. इससे आपकी स्किन पूरी तरह साफ हो जाएगी और होली का रंग गायब हो जाएगा. होली के बाद स्किन ड्राइ हो जाती है. ऐसे में यह अच्छे मॉइश्चराइजर की तरह भी काम करता है.

मूली का रस: होली के रंग को छुड़ाने में मूली का रस भी बहुत फायदेमंद होता है. इस्तेमाल करने के लिए मूली के रस में बेसन और दूध मिला लें. अच्छे से मिलाने पर गाढ़ा पेस्ट तैयार हो जाएगा. बेसन की जगह पर मैदे का भी इस्तेमाल किया जा सकता है. होली खेलने के बाद चेहरे पर इस पेस्ट का इस्तेमाल करें और कुछ देर बाद चेहरा धो लें. स्किन भी साफ हो जाएगी और स्किन को जरूरी मॉइश्चराइजर भी मिल जाएगी.

दूध में कच्चे पपीते का पल्प: रंग को छुड़ाने के लिए दूध में कच्चे पपीते का पल्प मिलाकर भी इस्तेमाल किया जा सकता है. इसके पेस्ट को तैयार करने के लिए दूध में मुल्तानी मिट्टी और बादाल का तेल मिलाया जा सकता है. पेस्ट को करीब 20 मिनट तक चेहरे पर लगा कर रखें और फिर चेहरे को धो लें. चेहरा पूरी तरह साफ हो जाएगा.

 

You may also like

किन्नर को भूल से भी कभी नहीं देना चाहिए ये एक चीजें, वरना हो जाओगे बर्बाद

शास्त्रों की अगर मानें तो किन्नर कि दुआ