IS आतंकी अबू यूसुफ़ के घर से बरामद हुआ विस्फोटक, पिता ने खोले कई राज

अबु यूसुफ के पिता- कफील

बलरामपुर के कोतवाली उतरौला क्षेत्र के बढया भैसाही गांव का रहने वाला मुस्तकीम खान ही अबू यूसुफ़ है जो दिल्ली में पकडा गया आतंकी है। मुस्तकीम के पिता का नाम कफील है। मुस्तकीम अपने गाँव बढया भैसाही से लगभग दो किलोमीटर दूर हाशिपारा में एक कास्मेटिक की दुकान चलाता था। दुकान पर कोई बैनर नही लगा हुआ है। दो दिन से दुकान बन्द है।

उसके पड़ोस में दुकान करने वाले एक सख्श ने बताया कि मुस्तकीम कभी कभी ही दुकान खोलता था। मुस्तकीम के ISIS  से सम्बध है यह सुनकर सभी हतप्रभ है। चार पांच वर्ष पहले मुस्तकीम सउदी अरब गया हुआ था। दो साल पहले ही उसने हाशिपारा में कास्मेटिक की दुकान खोली है। मुस्तकीम को लेकर दिल्ली पुलिस उसके गांव बढया भैसाही पहुंच रही है।

बलरामपुर से दिल्ली अबु यूसुफ को ले जाते हुए स्पेशल सेल की टीम

दिल्ली के धौलाकुआं से गिरफ्तार आईएसआईएस के संदिग्ध आतंकी अबू यूसुफ़ उर्फ़ मुस्तकीम की गिरफ्तारी पर पिता कफील अहमद ने कहा कि उसकी इस करतूत से बाप-दादाओं की कमाई इज्जत मिट्टी में मिल गई। पिता ने कहा कि बेटे की इस करतूत पर उन्हें अफसोस हैं। उन्होंने बताया कि बेटा और उसका परिवार घर में साथ ही रहते थे, लेकिन खाना अलग बनता था। उन्होंने कहा कि बेटा गांव में किसी से मतलब नहीं रखता था।

दुबई और कतर देशों में रह चूका है अबु युसूफ

इसी बक्से में छुपा कर रखा गया था बारूद

इस सवाल के जवाब में कि क्या उन्हें इस बात की खबर नहीं लगी कि घर में विस्फोटक रखा हुआ है। उन्होंने कहा कि बेटा और उसका परिवार अलग कमरे में रहते थे। उनके बीच क्या बात होती थी, क्या नहीं मुझे नहीं पता। वह गांव घर में किसी से कोई मतलब नहीं रखता था। कफील अहमद ने बताया कि वह दुबई और कतर जा चुका है। इसके अलावा वह काम के सिलसिले में उत्तराखंड और रायपीर भी गया था।

शुक्रवार को निकला था घर से

पिता कफील अहमद के मुताबिक वह शुक्रवार को घर से निकला था। इसके बाद अचानक से उसका फ़ोन आउट ऑफ़ नेटवर्क हो गया। लखनऊ रिश्तेदारी में भी उसके बारे में पूछताछ की गई, लेकिन वहां भी नहीं मिला। अब वह दिल्ली कैसे पहुंचा इसकी जानकारी नहीं है। पुलिस के घर आने पर पूरी बात पता चली। बेटे की इस करतूत से बाप-दादाओं की कमाई इज्जत खाक में मिल गई।

पत्नी आइशा को पति मुस्तकीम के कर्मो की लग गई थी भनक

अबु यूसुफ की पत्नी -आयशा बेटे के साथ

आइएसआइ के आतंकी अबु युसूफ उर्फ़ मुस्तकीम की पत्नी आइशा ने बताया की उसे अपने पति के कृत्यों की भनक लग गई थी। उसने युसूफ को कई बार समझाने की कोशिस की लेकिन युसूफ ने उसकी एक भी न सुनी। पत्नी आइशा ने बताया की जब वह उसे समझाने का प्रयास करती थी तो युसूफ उसका मुह बंद करवा देता था। युसूफ किसी को कुछ बताने पर तलाक की धमकी देता था इसलिए उसने कभी किसी को कुछ नही बताया।

घर से बरामद आईएसआई का झंडा

पता होता तो पहले ही दे देता पुलिस को सुचना

आतंकी अबु युसूफ उर्फ़ मुस्तकीम के पिता कफील का कहना है किं अगर उन्हें पहले यह पता होता की उनका बेटा ऐसे गतविधियो में लिप्त है तो पहले ही पुलिस को सुचना दे देते। उनका कहना है की बेटे के ऐसे कम से उनका सर झुक गया है। वह समाज में मुह दिखाने लायक नही रहे है।

देर रात बलरामपुर पहुँची दिल्ली एटीएस की टीम

शनिवार की देर रात दिल्ली एटीएस टीम आतंकी अबु युसूफ को लेकर उसके गांव बढ़िया भैसाहि पहुँची। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच उसे दिल्ली से बलरामपुर लाया गया। जहा उसकी पहचान कराई गई।

आतंकी के घर से बरामद हुआ विस्फोटक

दिल्ली से बलरामपुर आईएसआई के आतंकी को बलरामपुर लेकर पहुँची दिल्ली एटीएस टीम ने कई खुलासे किये। पुलिस व एटीएस की ने अबु युसूफ उर्फ़ मुस्तकीम की निशानदेही पर उसके घर से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया। विस्फोटक से भरी जैकेट अबु युसूफ के घर से व तालाब में छुपाकर विस्फोटक से भरी दूसरी जैकेट बरामद की। बम स्क्वायड के टीम ने दोनों जैकेट के बमो को निष्क्रिय किया।

छापेमारी में पूछताछ के लिए तीन लोगों को टीम ने उठाया

बलरामपुर पहुँचे अबु युसूफ के निशानदेही पर एटीएस व एसटीएफ की टीम ने छापेमारी की। टीम ने उतरौला के गांधी नगर क्षेत्र से तीन लोगो को गिरफ्तार कर उतरौला कोतवाली ले आई। शनिवार को भी उन जगहों पर छापेमारी की गई जहाँ से अबु युसूफ बम बनाने में प्रयोग किये जाने का उपकरण ख़रीदता था छापेमारी की।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button