IPL की शुरुआत होते ही सक्रिय हुए सट्टेबाज, अंतरराज्यीय 6 सटोरियें गिरफ्तार

कानपुर जिले समेत कई राज्यों में फैला आईपीएल मैचों में सट्टेबाजी के मकड़जाल को आज कानपुर पुलिस ने कमर तोड़ते हुए छह सटोरियों को पुलिस व स्वाट की टीम ने संयुक्त अभियान चलाकर पकड़ा है। अभियुक्तों के कब्जे से नेपाली करेंसी समेत 93 लाख से अधिक की धनराशि बरामद हुई है। इसके साथ ही लैपटॉप, सट्टा रजिस्टर, नोट गिनने वाली मशीन व मोबाइल बरामद हुए हैं।
खास बात यह है कि टीम को बिकरु कांड के मोस्ट वांटेड विकास दुबे के खजांची जय बाजपेई का साथी सटोरिया भी पकड़ा गया है। पुलिस उपमहानिरीक्षक डीआईजी प्रीतिंदर सिंह ने देर शाम वहां पर हर शुक्रवार को जनपद में आईपीएल मैचों की शुरुआत के साथ सक्रिय हुए सट्टेबाजी का भंडाफोड़ किया।
ये भी पढ़ें- आलू मटर कोरमा को डिनर में करें शामिल, जानें आसान रेसिपी
उन्होंने बताया कि जनपद में नजीराबाद फजलगंज काकादेव थाना क्षेत्र इलाकों में बीते कई दिनों से आईपीएल क्रिकेट मैच सट्टा खिलाई जाने की सूचना मिल रही थी। सूचना के आधार पर पुलिस अधीक्षक दक्षिण दीपक भूकर व पुलिस अधीक्षक पश्चिम डॉक्टर अनिल कुमार के नेतृत्व में तीनों थानों की पुलिस के साथ एसओजी की टीमों को सटोरियों की धरपकड़ के लिए लगाया गया। टीमों ने बेहतर प्रयास करते हुए सटोरियों के पूरे गैंग को पकड़ने का जाल बिछाया और नजीराबाद इलाके में एक दुकान में से चलाए जा रहे सट्टे के गोरखधंधे में लिप्त एक सटोरियों को पकड़ लिया।
इस आधार पर अलग-अलग टीमों ने एक साथ नजीराबाद व फजलगंज इलाकों से एक-एक कर कुल छह सटोरियों को पकड़ते हुए 93 लाख 72000 से अधिक की राशि बरामद कर ली। तलाशी के दौरान सटोरियों के कब्जे से 27000 की नेपाली करेंसी भी हुई है। इसके अलावा नोट गिनने वाली मशीन लैपटॉप 11 मोबाइल वाह सट्टा सट्टा बुकिंग का रजिस्टर भी बरामद किया गया है।
ये भी पढ़ें- CBI ने रिश्वत लेते BCAS के सहायक निदेशक को किया गिरफ्तार
गिरफ्तार अभियुक्तों में एनकाउंटर में मारे गए वांटेड विकास दुबे के खजांची जय बाजपाई का साथी ईशान भाटिया को भी पकड़ा गया है। ईशान जय बाजपाई के साथ कमेटी (बीसी) संचालक के कार्य में लिप्त रहता था। उसके मोबाइल से जय बाजपेई के साथ किए गए लेनदेन के साक्ष्य मिले हैं। इसके अलावा कौशलपुरी निवासी हरप्रीत सिंह बेदी, रिशु अरोरा, विनोद कुमार छाबड़ा, रिजक सिंह व कन्नौज से तिर्वा निवासी गुरमीत सिंह सटोरियों को गिरफ्तार किया गया है।
ऐप के जरिए बुकिंग कर लगाई जाती भी रकम
डीआईजी डॉ प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि सटोरियों का पूरा जाल कानपुर समेत अन्य राज्यों में भी फैला है। सटोरियों का मास्टरमाइंड सोनू सरदार राजस्थान के जयपुर में रहकर पूरे नेटवर्क को संचालित करता है। पूछताछ में सटोरियों ने बताया कि निश्चित ओवरों में रन, टीमों की हार-जीत पर सट्टा लगाया जाता है। गिरोह के हाईटेक होने का इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह लोग आधुनिक व हाईटेक रास्ता अपनाते हुए ऐप के जरिए बुकिंग करते हैं और गिरफ्तार सटोरियों में गुरमीत सिंह के यहां नोट गिनने की मशीन तक लगी है।
सटोरियों के साथियों की तलाश में जुटी टीमें
डीआईजी ने बताया कि जनपद सहित अन्य राज्यों में सटोरियों के गिरोह व साथियों का पता चला है। अभी इसमें और भी लोग शामिल हैं। जिनकी पूरी कुंडली कंगाली जा रही है और उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की कई टीमों के साथ ही एसओजी की टीम को लगा दिया गया है। इस पूरे नेटवर्क को चलाने वाले सटोरियों को जल्द से जल्द पकड़ते हुए बेनकाब कर दिया जाएगा।
The post IPL की शुरुआत होते ही सक्रिय हुए सट्टेबाज, अंतरराज्यीय 6 सटोरियें गिरफ्तार appeared first on Vishwavarta | Hindi News Paper & E-Paper.

Loading...
loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...