इस जगह…नशे के लिए सिगरेट में बिच्छू भरकर पी रहे हैं लोग

पाकिस्तान के खैबर-पख्तूनख्वां प्रांत से चौंकाने वाली खबर सामने आ रही है। यहां के लोग नशे की चरम सीमा तक पहुंचने के लिए सिगरेट में बिच्छू भरकर पी रहे हैं। उनके अनुसार बिच्छू का नशा करने के बाद वे 10 घंटे तक अगल ही दुनिया में पहुंच जाते हैं।

सिगरेट में भरकर बिच्छू का नशा करना पहले छह घंटे के दौरान काफी दर्दनाक हो सकता हैं क्योंकि शरीर स्वयं उसके जहर को अपने में मिला रहा होता है। हालांकि, पूर्व में इस बात के कई किस्से सुनने को मिलते हैं, जिनमें कहा गया था कि बिच्छू को मारकर पीने से उत्साह की उत्तेजना के साथ भ्रम पैदा करने वाला प्रभाव होता है।

कई लोगों की चली गई जान –

धूम्रपान के रूप में बिच्छू को शामिल करना आपकी कल्पना से भी अधिक घातक हो सकता है। इसके डंक में मौजूद जहर नशे के चरम तक पहुंचाने वाला प्राथमिक पदार्थ है। यह उस व्यक्ति की मनोवैज्ञानिक प्रतिक्रियाओं को ट्रिगर करता है, जो इसे पीता है। इससे याददाश्त भी जा सकती है। बिच्छू के जहर में जो ड्रग मिलता है, वह बेहद जहरीला होता है, जिससे कई लोगों की जान चली जाती है।

पैदा होते ही डॉक्टरों को ऑर्डर देने लगा बच्चा, विडियो में देखें असली सच

मारकर बनाते हैं उसका पाउडर –

सबसे पहले बिच्छू को मार दिया जाता है। अगर मरा हुआ बिच्छू मिल जाए, तो उसे भी इस्तेमाल कर लेते हैं। इसके बाद उन्हें धूप में सुखा लिया जाता है और फिर उसका पाउडर बनाया जाता है।

इस पाउडर को एक कागज में भरकर उनका धूम्रपान किया जाता है। और ज्यादा नशा करने के लिए पाउडर में अफीम और तंबाकू के साथ मिलाया जाता है।

आमतौर पर खैबर पख्तूनख्वां और अफगानिस्तान के क्षेत्रों में इसका इस्तेमाल किया जाता है। मगर, इस प्रथा का प्रसार अब महानगरों तक हो रहा है। बिच्छू का पाउडर 200 या 300 प्रति पॉप में उपलब्ध है। इस कुप्रथा को रोकने के लिए वर्तमान में कोई कानून नहीं है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button