जानिए कितनी उम्र के बाद करवाना चाहिए फेशियल और ब्लीच

- in जीवनशैली

आज के समय में हर लड़की खुद को सुंदर और आकर्षक दिखाना चाहती है जिसके लिए वे काफी मेहनत भी करती है। परंतु कई बार उनकी यह मेहनत उनकी स्किन पर भारी पड़ जाती है। खूबसूरती और ग्लो को बढाने के लिए वे कुछ ऐसी गलतियाँ कर बैठती है जिसका भुगतान उनकी स्किन को भुगतना पड़ता है। फेशियल और ब्लीच भी उन्ही गलतियों में से एक है। माना यह दोनों स्किन को नयी चमक और ग्लो प्रदान करते है लेकिन गलत उम्र में इनका इस्तेमाल करने से स्किन को हानिकारक परिणाम झेलने पड़ सकते है।

जानिए कितनी उम्र के बाद करवाना चाहिए फेशियल और ब्लीचबहुत ही कम लड़कियां जानती है परन्तु फेशियल और ब्लीच केवल बढ़ती उम्र की निशानियों को छिपाने और चेहरे पर ग्लो लाने में मदद करते है जो उम्र बढ़ने के साथ कम हो जाता है। लेकिन आज के समय में चोटी उम्र की लड़कियां भी इनका इस्तेमाल करने लगी है। किसी भी अपने फेस की डेड स्किन हटानी है तो कोई अपने फेस के अनचाहे बालों से परेशान है जिसे छुपाने के लिए ब्लीच का इस्तेमाल किया जाता है। परंतु कम उम्र में इन ब्यूटी ट्रीटमेंट का इस्तेमाल करना स्किन के लिए ठीक नहीं होता। इसलिए आज हम आपको फेशियल और ब्लीच कराने की सही उम्र के बारे में बता रहे है। और साथ ही ये भी बतायेंगे की छोटी उम्र में फेशियल और ब्लीच करवाने से क्या नुकसान होते है?

फेशियल और ब्लीच करवाने की सही उम्र?

आज के समय में फेशियल और ब्लीच को एक जरुरी कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट के रूप में देखा जाने लगा है जो की बिलकुल गलत है। वास्तव में यह बढती उम्र की छुपाने के लिए प्रयोग में लाया जाने वाला आम ट्रीटमेंट है जिसका इस्तेमाल केवल बड़ी उम्र की महिलाओं को ही करना चाहिए। जबकि आजकल टीनेजर्स भी इसका काफी इस्तेमाल करने लगे है। जो बिलकुल गलत है।

अगर आप भी अपनी स्किन को आकर्षक और सुंदर बनाने के लिए इन दोनों ब्यूटी ट्रीटमेंट का इस्तेमाल करती है तो अभी से बंद कर दें। क्योंकि इस उम्र यह केवल आपकी स्किन को खराब करने का काम करेगा बजाय ठीक करने के। इसके अलावा कम उम्र में फेशियल और ब्लीच करवाने के कई नुकसान भी होते है जिसके बारे में हम आगे बता रहे है।

टीनएज में फेशियल और ब्लीच करवाने के नुकसान :-

1. स्किन खराब हो जाएगी :
फेशियल और ब्लीच में इस्तेमाल की जाने वाली क्रीम्स में हार्ड केमिकल का इस्तेमाल किया जाता है जो स्किन में मौजूद डर्ट और एजिंग के निशानों को खत्म करने का काम करते है। जबकि टीनएज में स्किन में ऐसे कोई पार्टिकल होते ही नहीं, ऐसे अगर आप इन क्रीम्स को अपने फेस पर लगाती है तो यह डायरेक्ट आपकी स्किन के कोमल सेल्स पर प्रभाव डालते है। जिससे आपकी अच्छी खासी स्किन खराब हो जाती है।

2. स्किन कोमल होने की बजाय हार्ड हो जाएगी :
इन क्रीम में मौजूद ओक्सिडेंट्स स्किन की हार्श परत को हटाकर न्यू सेल्स को उभारने का काम करते है जबकि टीनएज में स्किन पहले से ही सॉफ्ट और स्मूथ होती है। ऐसे में अगर सॉफ्ट स्किन पर क्रीम्स का इस्तेमाल किया जाएगा तो स्किन पहले से ज्यादा हार्ड और सख्त हो जाएगी।

3. डेड स्किन की बजाय न्यू स्किन को प्रभाव :
बढती उम्र के साथ स्किन डेड होने लगती है, जिसे रीजेनुएट करने के लिए फेशियल का प्रयोग किया जाता है। जबकि ब्लीच से स्किन में कसाव आता है। परंतु टीनएज में स्किन पहले से ही अच्छी और स्मूथ होती है, ऐसे में अगर इसका इस्तेमाल किया गया तो जाहिर है प्रभाव अच्छी स्किन पर ही पड़ेगा।

4. सही उम्र देखकर ही चुनें :

फेशियल और ब्लीच करवाने से पहले आपको ठीक तरह से सोच लेना चाहिए की वाकई आपकी स्किन को इसकी जरूरत है या नहीं? क्योंकि समय से पहले फेशियल और ब्लीच का इस्तेमाल करने से नुकसान आपका ही होगा। इसलिए अपनी उम्र को ध्यान में रखें। वैसे अगर आपकी स्किन बहुत जल्दी खराब हो गयी है तो 20 की उम्र के बाद फेशियल करवाया जा सकता है। परंतु केवल जरुरत पड़ने पर। ऐसे तो 30 के बाद ही फेशियल और ब्लीच का इस्तेमाल करना चाहिए।

क्या करता है फेशियल-ब्लीच?
फेशियल स्किन में ग्लो लाने में मदद करता है यह तो सभी जानते है लेकिन इसके अलावा भी यह स्किन को बहुत से फायदे देता है जिनके बारे में सभी को पता नहीं होता।

1. डेड स्किन की सफाई :
फेशियल-ब्लीच में केमिकल युक्त क्रीम्स का इस्तेमाल किया जाता है, जो सभी डेड सेल्स और डेड स्किन को साफ़ करता है। जिससे स्किन साफ़ और ग्लोइंग दिखती है। लेकिन इसका यह फायदा केवल अधिक उम्र की स्किन में ही दिखाई देता है। कम उम्र और टीनएज में इसके इस्तेमाल से प्रभाव उल्टा हो सकता है।

2. फेशियल और ब्लीच को अवॉयड करें :

अक्सर किसी शादी पार्टी का फंक्शन के समय लड़कियों के मन में आता है की चलो एक बार फेशियल करवा लेते है। लेकिन यह फेशियल उनकी स्किन के लिए एक बड़ी समस्या का कारण बन जाता है। इसलिए जितना हो सके फेशियल और ब्लीच को अवॉयड करना चाहिए। जिससे लंबे समय तक आपकी स्किन केमिकल्स से दूर रहे।

3. उम्र बढ़ने पर चुनें फेशियल-ब्लीच :

इसका इस्तेमाल केवल तभी करें जब आपकी स्किन या तो कुछ ज्यादा ही काली होने लगे, थकी-थकी सी रहने लगे, झुर्रियां आने लगे, फ़ाईन लाइन्स दिखने लगें या समय से पहले ही आपकी स्किन बूढी दिखने लगे। ऐसे में आपकी स्किन को इनका कोई दुष्प्रभाव नहीं होगा। क्योंकि इन सभी निशानियों का मतलब होता है की अब स्किन को फेशियल की आवश्यकता है।

ब्लीच-फेशियल नहीं करवाएं तो क्या करें?
टीनएज में सभी खुद को बेस्ट दिखाने की चाह रखती है। लेकिन उसके लिए फेशियल-ब्लीच का यूज करना ठीक नहीं। लेकिन एक तरीका है जिसकी मदद से आप अपनी मनपंसद स्किन और स्किन में मनचाहा ग्लो पा सकती हैं। और वो है घरेलू पैक। घरेलू पैक की मदद से स्किन संबंधी समस्याएं तो दूर होंगी ही साथ-साथ आपकी स्किन भी ग्लो करने लगेगी। और सबसे बड़ी बात घरेलू पैक्स को कोई नुकसान भी नहीं होते है जिससे स्किन भी सेफ रहेगी।

इसके लिए आप निम्नलिखित फेस पैक्स का इस्तेमाल कर सकती है :

बेसन, हल्दी और दूध से बना फेस पैक।
गुलाबजल और नींबू का फेस पैक।
मुल्तानी मिट्टी, नींबू और गुलाबजल का पैक।
खीरे का पैक।
ओट्स और दूध या दही का पैक।
इनकी मदद से आप मुहांसे, ब्लैकहैड, स्किन पर डार्क पैचेज, मुहांसों के दाग, धब्बे, डार्क सर्कल्स की समस्या की समस्या से छुटकारा पा सकती है और स्किन को नैचुरली गोरा और चमकता हुआ बना सकती है।

 

सम्बंधित समाचार

You may also like

दोस्तों के सामने दुल्हन ने रख दी ऐसी शर्त, रह गए दंग!

अपने दोस्त की शादी के लिए हर कोई