हांगकांग: लोकतंत्र समर्थक पर सरकार की सख्ती, चुनाव लड़ने पर लगी रोक

हांगकांग द्वीप सीट पर मार्च में होने वाले उपचुनाव में लोकतंत्र समर्थक डेमोसिस्टो पार्टी पर सरकार ने सख्ती करते हुए उसकी पार्टी की एक कार्यकर्ता एग्नेस चाऊ को उपचुनाव में भाग लेने से रोक लगा दी है।

सरकार के आदेश के बाद एग्नेस चाऊ ने एक बयान जारी कर कहा कि ” हांगकांग डेमोसिस्टो पार्टी पूर्व में कभी स्वतंत्रता के पक्ष में नहीं रही लेकिन हमारा मानना है कि देश के लोगों को हांगकांग के भविष्य पर आत्मनिर्णय का अधिकार है। हांगकांग की कानूनी व्यवस्था के तहत हमारी राजनीतिक आजादी को संरक्षित किया जाना चाहिए। मुझे चुनाव में भाग लेने से प्रतिबंधित करने के निर्णय से लगता है कि राजनीतिक अधिकार पूरी तरह से अक्षम हो चुके हैं।”

बड़ी खबर: यौन उत्पीड़न के लिए भारतीय मूल की महिला ने वेनस्टेन पर दर्ज हुआ मुकदमा

यदि चाऊ चुनाव लड़तीं और जीत जातीं तो वह सबसे कम उम्र की सांसद होतीं। हांगकांग चीन का विशेष प्रशासनिक क्षेत्र है। 1997 में ब्रिटिश शासन खत्म होने के बाद यह चीन के कब्जे में आ गया।

इसके बाद से यहां की शासन व्यवस्था ‘एक देश, दो प्रणाली’ के तहत चलती है। यहां न्यायपालिका तो स्वतंत्र है लेकिन पूर्ण लोकतंत्र की इजाजत नहीं है। यहां लोकतंत्र समर्थक आंदोलन होते रहे हैं। मंगलवार को ही छात्र आंदोलन के नेता जोशुआ वांग को जमानत पर रिहा किया गया था। वह 2014 में हुए आंदोलन में भी शामिल थे जिसमें हांगकांग की प्रमुख सड़कों को महीनों के लिए बंद कर दिया गया था।

 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button