Home > Mainslide > ‘फेक न्यूज’ पर हमेशा के लिए रद्द हो सकती है पत्रकारों की मान्यता

‘फेक न्यूज’ पर हमेशा के लिए रद्द हो सकती है पत्रकारों की मान्यता

फर्जी खबरों पर लगाम लगाने के उपाय के तहत सरकार ने सोमवार को कहा कि अगर कोई पत्रकार फर्जी खबरें करता हुआ या इनका दुष्प्रचार करते हुए पाया जाता है तो उसकी मान्यता स्थायी रूप से रद्द की जा सकती है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने एक विज्ञप्ति में कहा कि पत्रकारों की मान्यता के लिए संशोधित दिशा-निर्देशों के मुताबिक अगर फर्जी खबर के प्रकाशन या प्रसारण की पुष्टि होती है तो पहली बार ऐसा करते पाए जाने पर पत्रकार की मान्यता छह महीने के लिए निलंबित की जाएगी और दूसरी बार ऐसा करते पाए जाने पर उसकी मान्यता एक साल के लिए निलंबित की जाएगी। 

इसे भी पढ़े: यहाँ मिलेगा आपको सनी लियोनी की वर्जिनिटी लूज़ करने वाला वीडियो…

वहीं तीसरी बार उल्लंघन करते पाए जाने पर पत्रकार की मान्यता स्थायी रूप से रद्द कर दी जाएगी। मंत्रालय ने कहा कि अगर फर्जी खबर के मामले प्रिंट मीडिया से संबद्ध हैं तो इसकी कोई भी शिकायत भारतीय प्रेस परिषद (पीसीआई)  को भेजी जाएगी और अगर यह इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से संबद्ध पाया जाता है तो शिकायत न्यूज ब्रॉडकास्टर एसोसिएशन(एनबीए) को भेजी जाएगी ताकि यह निर्धारित हो सके कि खबर फर्जी है या नहीं। मंत्रालय ने कहा कि इन एजेंसियों को 15 दिन के अंदर खबर के फर्जी होने का निर्धारण करना होगा।

सेना के कार्गो हेलीकॉप्‍टर में लगी आग

ये दोनों संस्थाएं ही तय करेंगी कि जिस खबर के बारे में शिकायत की गई है, वह फेक न्यूज है या नहीं। दोनों को यह जांच 15 दिन में पूरी करनी होगी। एक बार शिकायत दर्ज कर लिए जाने के बाद आरोपी पत्रकार की मान्यता जांच के दौरान भी निलंबित रहेगी। 

Loading...

Check Also

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए RSS कार्यकर्ता ने दिया अब तक के सबसे बड़े दान

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए RSS कार्यकर्ता ने दिया अब तक के सबसे बड़े दान

प्रतापगढ़ में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्व सह संघ चालक ने अयोध्या मेंराम मंदिर निर्माण के लिए एक …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com