लड़कियाँ एडल्ट वीडियो देखने के बाद करती है ऐसा काम, जानकर हैरान हो जाएंगे

- in जीवनशैली

पोर्न फिल्में देखना सभी को पसंद होता है। लेकिन, पोर्न फिल्में बाहर से जितनी खूबसूरत और आकर्षक दिखती है वो असल में उतनी ही नुकसानदायक भी होती हैं। हाल के आंकड़ों से एक बेहद चौंकाने वाली बात सामने आई है। हाल ही में एक शोध किया गया जिसके मुताबिक, भारतीय महिलाओं में पोर्न फिल्में देखने की प्रवृत्ति पहले के मुकाबले कई गुना बढ़ गई है। जब भारत में ऑनलाइन पोर्न फिल्में देखने की बात आती है, भारत धीरे-धीरे अन्य देशों की बराबरी करता दिख रहा है। ताज्जजुब की बात तो ये है कि न केवल भारतीय पुरुष बल्कि भारतीय महिलाएं और लड़कियां भी इस मामले में कम नहीं हैं। ताजा रिसर्च के मुताबिक, भारत में अब 30 फीसदी महिलाएं अश्लील वेबसाइटों पर नियमित रूप से पोर्न फिल्में देखती हैं। लेकिन, लड़कियों पर एडल्ट फिल्मों का प्रभाव क्या होता है ये भी एक चौकाने वाली बात है।

लड़कियाँ एडल्ट वीडियो देखने के बाद करती है ऐसा काम, जानकर हैरान हो जाएंगे

एडल्ट फिल्में देखने का प्रभाव न केवल पुरुषों या लड़को पर बल्कि लड़कियों पर एडल्ट फिल्मों का प्रभाव पड़ता है। हालिया शोध के मुताबिक, लड़कियों पर एडल्ट फिल्मों का प्रभाव बहुत अधिक व्यापक होता है। इससे न केवल दिमाग पर नाकारात्मक असर होता है बल्कि उसकी मानसिक स्थिती भी खराब होती है। तो आइय़े आपको बताते हैं कि लड़कियों पर एडल्ट फिल्मों का प्रभाव क्या होता है।

सेक्स की लत

 

नियमित रुप से एडल्ड वीडियो देखने का जो पहला प्रभाव होता है वह है सेक्स की लत। अश्लील सामग्री से यौन उत्तेजना या कामोत्तेजक बढ़ती है और धीरे धीरे लड़कियां इसकी आदी हो जाती हैं। पोर्नोग्राफ़ी बहुत रोमांचक और पॉवरफुल इमेजरी प्रदान करती थी, जिसे वे अक्सर महसूस करना चाहती हैं और उनकी कल्पनाएं कुछ इसी तरह कि हो जाती हैं। एक बार आदी हो जाने पर वे तलाक, परिवार को नुकसान और कानूनी समस्याएं (जैसे यौन उत्पीड़न, उत्पीड़न या साथी कर्मचारियों का दुरुपयोग) जैसी परेशानियों में फंस सकती हैं।

शरीर में कई गुना खून बढ़ा देते हैं ये दाने, यकीन न हो तो खुद देख लो

दिमाग पर एडल्ट फिल्मों का प्रभाव

 

एडल्ट फिल्में देखने के प्रभाव लड़के और लड़कियों दोनों पर पड़ता है। शोध के मुताबिक, जो पुरुष या महिला अधिक मात्रा में इस प्रकार के वीडियो देखते हैं उनके दिमाग की रचनात्मकता धीरे-धीरे कमजोर होने लगती है। रिसर्च के मुताबिक, इस तरह के वीडियो देखने वाले लोगों में याददाश्त की समस्या भी आने लगती हैं। शोध के मुताबिक, लड़कियों पर एडल्ट फिल्मों का प्रभाव उनकी यादाश्त क्षमता के कम होने के रुप में दिखाई देता है। नियमित रुप से पोर्न देखने से दिमाग की मांसपेशियां शिथिल हो जाती हैं और सिकुड़ सी जाती हैं।

अवैध सम्बन्धों को बढ़ावा

 

लड़कियों पर एडल्ट फिल्मों का प्रभाव सबसे भयानक तब हो जाता है जब वो इस तरह के वीडियो देखने के बाद अवैध सम्बन्धों को बुरा नहीं मानती हैं। ऐसे संबंध न केवल लड़कि के लिए बल्कि समाज के लिए भी नुकसानदायक होते हैं। इसके बावजूद नियमित रुप से पोर्न फिल्में देखने पर उनमें इसकी प्रवृत्ति बढ़ती जाती हैं। दिमाग को शांत करने और अपनी उत्तेजना पर काबू न रहने के कारण वो अक्सर गलत कदम उठा लेती हैं।

समाज से अलगाव

 

एडल्ट फिल्में भले ही भारत में सबसे ज्यादा देखी जाती हो। लेकिन, आज भी इन्हें छुप छुप कर ही देखना होता है। अगर किसी को इसकी लत लग जाये तो लोग अक्सर उससे किनारा करना शुरु कर देते हैं। भले ही भारत 21 वीं सदी में खड़ा हो लेकिन आज भी देश में महिलाओं के पोर्न देखने की बात समाज को पचती नहीं है। इसलिए पोर्न देखना समाज से अलगाव का कारण भी बनता है।

You may also like

शेविंग के पहले और बाद में इन बातों का रखें ख्याल, नहीं होगा इंफेक्शन

जल्दी-जल्दी शेव करने से त्वचा खराब हो जाती