आंध्र के श्रीहरिकोटा से जीसैट-6 ए संचार सैटेलाइट लॉन्च, जानिए क्या होंगे फायदे

- in राष्ट्रीय

आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा से संचार उपग्रह जीसैट-6 ए को इसरो ने सफलतापूर्व लॉन्च कर दिया. 415.6 टन वजनी और 49.1 मीटर लंबे जीएसएलवी रॉकेट को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा के दूसरे लांच पैड से शाम 4.56 बजे लॉन्च किया गया. रॉकेट लॉन्च के करीब 17 मिनट बाद जीसैट-6ए उपग्रह को कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित कर दिया गया.

भारत के संचार उपग्रह जीसैट-6 ए को ले जा रहे जीएसएलवी रॉकेट लॉन्च की उलटी गिनती गुरुवार को सामान्य रूप से जारी थी. इसकी उल्टी गिनती बुधवार दोपहर 1.56 बजे शुरू हुई थी. इस दौरान रॉकेट में ईंधन भरा गया और इसकी प्रणालियों की जांच की गई.

इसरो के मुताबिक, रॉकेट के दूसरे चरण में इस बार दो सुधार किए गए हैं जिसमें उच्च गति के विकास इंजन और इलेक्ट्रोमैकेनिकल एक्ट्यूएशन सिस्टम (विद्युत प्रसंस्करण प्रणाली) शामिल है. इसरो ने कहा कि जीसैट-6ए उपग्रह जीसैट-6 उपग्रह के समान हैं.

अभी अभी: अन्ना हजारे का अनशन खत्म, महाराष्ट्र के CM फडणवीस ने पिलाया जूस

इसकी खासियतें–

-सैटेलाइट 10 साल तक  काम करेगा

-मोबाइल कम्युनिकेशन बेहतर होगा

-सैटेलाइट का उद्देश्य मल्टी बीम कवरेज सुविधा के जरिए भारत को मोबाइल संचार प्रदान करना है.

-इसकी लागत 270 करोड़ रुपये है.

– इसे सेना के इस्तेमाल के हिसाब से भी डिजाइन किया गया है.

You may also like

शक है कि राहुल गांधी रबी, खरीफ की फसल का समय जानते होंगे: अमित शाह

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को राहुल