भारत-अफ्रीका सीरीज की हार को भूल जाइये आप, क्योंकि वर्ल्ड कप में भारतीय टीम ने गाड़ दिए हैं झंडे

नई दिल्ली – भारतीय टीम अभी साउथ अफ्रीका के दौरे पर है और टेस्ट सीरीज खेल रही है। भारतीय टीम हालांकि यह सीरीज हार चुकी है और सीरीज में 2-0 से पीछे चल रही है। तीसरे मैच में भी भारतीय टीम के लिए जीत मुश्किल ही लग रही है। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन का खेल जारी है और 241 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए लंच तक दक्षिण अफ्रीका ने एक विकेट के नुकसान पर 69 रन बना लिए हैं। ऐसे में कहा जा सकता है कि भारतीट टीम ये मैच भी हार सकती है।

भारत-अफ्रीका सीरीज की हार को भूल जाइये आप, क्योंकि वर्ल्ड कप में भारतीय टीम ने गाड़ दिए हैं झंडेलेकिन, आपको इस हार का गम मनाने की जरुरत नही है क्योंकि, भारतीय अंडर 19 क्रिकेट टीम ने इस हार को भुलाने की वजह दे दी है। दरअसल, अंडर 19 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम ने सफलता के झंडे गाड़ते हुए अपने चीर प्रतिद्ववंदी बांग्लादेश की टीम को क्वॉर्टर फाइनल में 131 रनों से हराया है। आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप में क्वार्टर फाइनल में बंग्लादेश को हराकर टीम इंडिया सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है, जहां उसका मुकाबला पाकिस्तान से होगा। दोनों ही टीमें फाइनल में जाने के लिए 30 जनवरी को खेलेंगी।

बांग्लादेश के साथ हुए क्वार्टर फाइनल में भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी किया। भारतीय बल्लेबाजी के तीन सबसे बड़े आधार रहे, जिनमें शुभमन गिल ने 86 रनों, अभिषेक शर्मा ने 50 और कप्तान पृथ्वी शा ने 40 रनों की पारी खेलकर टीम को एक अच्छी स्थिती में पहुंचा दिया। टीम इंडिया ने बांग्लादेश  सामने जीत के लिए 265 रनों का लक्ष्य रखा, लेकिन बांग्लादेश को अभी भारतीय गेंदबाजों की रफ्तार भी देखनी थी। भारत की तरफ से तेज गेंदबाज कमलेश नगरकोटी ने महज 18 रन देकर 3 विकेट और अभिषेक शर्मा, शिवम मवी ने 2-2 विकेट लिये।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश का कोई भी बल्लेबाज विकेट पर टीक नही सका और लगातार विकेट गिरते रहे। 23 के कुल स्कोर पर मावी ने मोहम्मद नइम (12) को आउट किया। इसके बाद कप्तान सैफ हुसैन (12) नागरकोटी का शिकार बन गए। बांग्लादेश के लिए सबसे ज्यादा 43 रन पिनाक ने बनाए जो रॉय का शिकार बने। फिर इसके बाद विकेटों का सिलसिला शुरू हो गया और पूरी टीम 134 के कुल स्कोर पर आउट हो गई। आपको बता दें कि अंडर-19 वर्ल्ड कप के ग्रुप दौर के तीनों मैच आसानी से जीतकर भारतीय टीम सेमीफाइनल में पहुंच चुकी है।

भारतीय टीम ने अपने पहले ही मैच में ऑस्ट्रेलिया को 100 रनों से हराया था। बात करें भारतीय टीम की बल्लेबाजी और गेंदबाजी की तो एक तरफ जहां पृथ्वी शॉ अपनी खूबसूरत बैटिंग से सचिन की याद दिला रहे हैं तो वहीं भारतीय तेज गेंदबाज अपनी स्पीड से करोड़ों भारतीयों और खिलाड़ियों को चौंका रहे हैं। न्यूजीलैंड में चल रहे अंडर-19 विश्व कप में 18 साल के भारतीय तेज गेंदबाज कमलेश नागरकोटी ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले मैच में लगभग 149-150 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकी, जिसे देखकर किसी के लिए भी विश्वास करना मुश्किल हो रहा है। पृथ्वी शॉ की कप्तानी में भारतीय टीम लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही है। अब भारत का अगला मुकाबला सेमीफाइनल में 30 जनवरी को चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से होगा।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button