अयोध्या में CM योगी राम मंदिर के लिए लोगों को साजिशों से सावधान रहने की दी हिदायत

अयोध्या। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण की आकांक्षाओं को सोमवार को यह कहकर राहत दी कि इसका मार्ग अवश्य प्रशस्त होगा। बस, जहां इतने दिनों धैर्य रखा, थोड़ा और धैर्य रखें। अयोध्या में CM योगी राम मंदिर के लिए लोगों को साजिशों से सावधान रहने की दी हिदायत

जन्मोत्सव के मंच से संत सम्मेलन 

रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष एवं महंत नृत्यगोपालदास को जन्मोत्सव की बधाई देने अयोध्या पहुंचे मुख्यमंत्री ने जन्मोत्सव के ही मंच से संत सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए कहा कि मैं उस गोरक्षपीठ से हूं, जहां की तीन पीढिय़ां 1934 से ही राम मंदिर के प्रति समर्पित रही हैं और आज भी मैं उसी भावना से जुड़ा हुआ हूं। इससे अलग होने का प्रश्न ही नहीं उठता। उम्मीद भी जताई कि रामजन्मभूमि विवाद के समाधान का मार्ग निकलना ही चाहिए। मंदिर समर्थकों ने इतने दिनों तक धैर्य रखा, कुछ दिनों तक और धैर्य रखें।

मंदिर के नाम पर साजिशों को समझना होगा

योगी ने सावधान भी किया कि हमें मंदिर निर्माण के नाम पर उन साजिशों को समझना होगा, जिससे मंदिर के लिए अनुकूल वातावरण प्रभावित होता हो। राम राज्य की स्थापना भाषणों से नहीं प्रबल पुरुषार्थ से ही संभव है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यह उपक्रम पूरी गंभीरता से कर रहे हैं। प्रदेश में भी हम लोगों के स्तर से इस दिशा में अभियान संचालित है। कभी राम मंदिर के आतिशी प्रवक्ता रहे मुख्यमंत्री जाते-जाते मर्यादा की नसीहत भी दे गए। कहा, भगवान राम मर्यादा के प्रतीक रहे हैं और संत इस मर्यादा के वर्तमान प्रतिनिधि हैं। इस मर्यादा का पालन करते हुए राम मंदिर सहित देश के अन्य मसलों के लिए सम्यक समाधान का रास्ता निकालना पड़ेगा। 

योग से प्रयाग कुंभ तक का हवाला 

मुख्यमंत्री ने भारतीय योग से लेकर प्रयाग कुंभ तक का हवाला दिया और कहा, आज योग दुनिया के 192 देशों में स्वीकृत-शिरोधार्य हो रहा है। आगामी कुंभ के अवसर पर देश के सभी छह लाख गांवों एवं दुनिया के 192 देशों के प्रतिनिधि शामिल होंगे। कुंभ यदि आज दुनिया के सबसे बड़े धार्मिक-सांस्कृतिक आयोजन के रूप में यूनेस्को की अमूर्त धरोहर में शामिल हुआ है, तो इसके पीछे प्रधानमंत्री का भारतीय संस्कृति को पूरी दुनिया में प्रतिष्ठापित करने का प्रयास और हमारी संस्कृति की मजबूत जड़े हैं। अपने 30 मिनट के उद्बोधन में मुख्यमंत्री ने कांग्रेस सहित अन्य विपक्षियों पर भी हमला बोला। 

सौ वर्ष जीने की कामना 

मुख्यमंत्री ने न्यास अध्यक्ष को बधाई देते हुए उनके सौ वर्ष जीने की कामना की। करीब सवा तीन घंटा अयोध्या प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री ने अपने मित्र एवं जगद्गुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्रीधराचार्य के आश्रम अशर्फी भवन पहुंच उनसे भेंट की। मुख्यमंत्री ने सहस्त्रधारा घाट पहुंच सरयू महोत्सव का उद्घाटन किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

लापता जवान की निर्ममता से हत्या, शव के साथ बर्बरता, आॅख भी निकाली

दो दिन पहले बार्डर की सफाई दौरान पाकिस्तानी