Flipkart, Amazon ने मचाया धमाल, 6 दिन में बेचा इतने हजार करोड़ रुपये का सामान

एमेजॉन और फ्लिपकार्ट की अगुवाई में ई-टेलर्स (इलेक्ट्रॉनिक लेन-देन के जरिए खुदरा सामान बेचने वाला) ने 29 सितंबर से लेकर 4 अक्टूबर के बीच महज छह दिन में 3 अरब डॉलर (करीब 21,335 करोड़ रुपये) की बिक्री की है.  बेंगलुरु की रिसर्च कंपनी रेडसीयर कंसल्टेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, इन छह दिनों की बिक्री में वॉलमार्ट की स्वामित्व वाली कंपनी फ्लिपकार्ट (Flipkart) और एमेजॉन  (Amazon) की हिस्सेदारी 90 फीसदी रही, यानी इन दोनों कंपनियों ने ही 18 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की बिक्री की है.

Loading...

42 हजार करोड़ के पार जाएगी बिक्री

त्योहारी सीजन की बिक्री के पहले संस्करण में जोर पकड़ी खरीदारी को देखते हुए उम्मीद की जाती है कि दिवाली तक सिर्फ एमेजॉन और फ्लिपकार्ट की ऑनलाइन बिक्री ही छह अरब डॉलर (42,671 करोड़ रुपये) तक जा सकती है.

रेडसीयर कंसल्टिंग के संस्थापक व सीईओ अनिल कुमार ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस से कहा, ‘चुनौतीपूर्ण आर्थिक माहौल के बावजूद त्योहारी सीजन के पहले दौर में रिकॉर्ड तीन अरब डॉलर की खरीदारी हुई है, जिससे ऑनलाइन खरीदारी के प्रति उपभोक्ताओं में तेजी के रुझान का संकेत मिलता है.’

मुंबई के वाशी रेलवे स्टेशन पर लोकल ट्रेन में लगी आग, खाली कराया गया पूरा…

मूल्य के हिसाब से फ्लिपकार्ट फेस्ट‍िव सीजन में 60 से 62 फीसदी हिस्सेदारी के साथ इस बिक्री का लीडर बना हुआ है. उसकी सहयोगी कंपनियों  Myntra और Jabong को भी मिला लें तो कुल हिस्सेदारी 63 फीसदी हो सकती है.

एमेजॉन को क्या है इस रिपोर्ट से दिक्कत

रेडसीयर की रिपोर्ट में कहा गया है, ‘मोबाइल सहित सभी कैटेगिरी में बेहतर प्रदर्शन की वजह से Flipkart अगुआ बनी हुई है. यह बेहतरीन कीमत, बढ़िया ईएमआई विकल्प और चयन में विविधता की वजह से है, जिनको ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए जबरदस्त मार्केटिंग भी की गई है.’

मूल्य के हिसाब से एमेजॉन की बिक्री में 22 फीसदी की बढ़त हुई है. हालांकि वॉल्यूम यानी मात्रा के हिसाब से इसकी बिक्री में 30 फीसदी की बढ़त हुई है. हालांकि एमेजॉन ने इस रिपोर्ट को खारिज किया है. एमेजॉन के प्रवक्ता का दावा है, ‘ग्रेट इंडिया फेस्ट‍िवल (28 सितंबर से 4 अक्टूबर) के दौरान ट्रांजेक्शन करने वाले कस्टमर्स में अमेजॉन की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा 51 फीसदी रही. ऑर्डर में हिस्सेदारी 42 फीसदी और वैल्यू में हिस्सेदारी 45 फीसदी रही.’  

सबसे ज्यादा बिके मोबाइल

रिपोर्ट के अनुसार, फेस्ट‍िव सीजन में मूल्य के हिसाब से 55 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी के साथ मोबाइल बिक्री के मामले में सबसे आगे रहा है. इस साल छोटे शहरों और कस्बों से ज्यादा मांग आने के कारण मोबाइल, कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स, फैशन उत्पाद और बड़े अप्लायंसेज की खूब बिक्री हुई है.

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *