फीफा विश्व कप: आइसलैंड से अर्जेंटीना को रहना होगा सतर्क, मेसी पर टिकी निगाहें

- in खेल

मॉस्को : फीफा फुटबॉल विश्व कप में आज अर्जेंटीना का सामना आइसलैंड से होना है। अर्जेंटीना की टीम जहां दो बार की चैंपियन है वहीं आइसलैंड की टीम पहली बार टूर्नमेंट में खेलने उतरेगी। जाहिर है, अर्जेंटीना को जीत हासिल करने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। आंकड़े भी उसके पक्ष में हैं। अर्जेंटीना के पास मौजूदा समय के सबसे दिग्गज खिलाड़ी लियोनेल मेसी हैं।फीफा विश्व कप: आइसलैंड से अर्जेंटीना को रहना होगा सतर्क, मेसी पर टिकी निगाहें

इतना ही नहीं, टीम पिछली बार फाइनल तक पहुंची थी लेकिन आइसलैंड को कम आंकना उसके लिए बहुत बड़ी भूल साबित हो सकती है। इस टीम ने 2016 में यूरोपीय चैंपियनशिप के प्री-क्वॉर्टर फाइनल में इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम को 2-1 से हराया था। ऐसे में अर्जेंटीना को इस कमजोर विपक्षी के खिलाफ सतर्क रहना होगा। हालांकि फैंस जिस तरह टीम का उत्साह बढ़ाने यहां पहुंचे हैं, उससे उसका काम कुछ आसान हो सकता है। 

बड़ी जीत पर निगाहें 
ग्रुप-डी में शामिल चार टीमों में आइसलैंड की टीम ही सबसे कमजोर मानी जा रही है। ऐसे में ग्रुप की बाकी टीमों की निगाहें इस टीम के खिलाफ बड़ी जीत हासिल करनी पर टिकी होंगी जिससे कि प्री-क्वॉर्टर फाइनल के लिए उनकी राह आसान हो जाए। अर्जेंटीना की भी यही कोशिश होगी। हालांकि टीम का हालिया प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा है। टीम पूरी तरह मेसी पर निर्भर है। 

मेसी से उम्मीदें 
क्वॉलिफाइंग राउंड में एक समय अर्जेंटीना पर टूर्नमेंट से बाहर होने का खतरा मंडराने लगा था लेकिन मेसी ने इक्वाडोर के खिलाफ हैट-ट्रिक जमाकर टीम को रूस का टिकट दिलाया था। टीम मेसी पर किस कदर निर्भर है इसका अंदाजा इससे भी लगाया जा सकता है कि क्वॉलिफाइंग के बाद उसने स्पेन और नाइजीरिया के खिलाफ जो दो मैच गंवाए उन दोनों में यह स्ट्राइकर नहीं खेल पाया था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आठवीं शिवानी कप संडे ओपन प्राइजमनी चेस टूर्नामेंट 30 सितम्बर को

लखनऊ। लखनऊ जिला चेस स्पोर्ट्स एसोसिएशन के तत्वावधान