FATEHPUR NEWS: एक क्लिक में पढ़ें फतेहपुर की ताजा खबर

ग्रामीणों को स्वच्छता का पाठ पढा रहे सफ़ाईकर्मी भूरेलाल

फतेहपुर । गांवों को की जनता को गंदगी से निजात दिला कर साफ-सुथरा बनाने की योजना के तहत गावों मे सफ़ाईकर्मी तैनात कर दिए गये। गावों मे कोरोना काल मे अधिकतर सफ़ाईकर्मियो ने अपनी जिम्मेदारी को बाखूबी निभाया ही नही बल्कि लोगों को जागरुक भी किया। अब पीएम मोदी ने “गंदगी भारत छोडो” का आह्वान किया है। सफ़ाईकर्मी इससे बेहद खुश है। मलवा विकास खंड के जलाला गावं मे तैनात सफ़ाईकर्मी भूरेलाल गावों की गलियों, नालियों को साफ-सुथरा बनाने के साथ ही ग्रामीणों को जागरुक भी कर रहे हैं।

सफाई कर्मी के स्वच्छता के पाठ से लोग सीख भी ले रहे हैं। गाव को स्वच्छ बनाने के लिये अपनी जिम्मेदारी समझने लगे हैं। इसका नतीजा यह है की नालियों में घर का कूड़ा-कचरा फेकने वाले लोग अब कचरे को एक जगह इकठ्ठा कर गांव के बाहर फेकते हैं। सफ़ाईकर्मी भूरेलाल के इस प्रयास से गांव साफ-सुथरा दिखाई देने लगा है। भूरेलाल ने बताया वह इस गांव मे सात वर्षों से सफ़ाई का कार्य कर रहे है।पहले लोग घरों से नालियों में पालीथीन और कूड़ा-कचरा फेक देते थे।

जिससे नालिया चोक हो जाती थी, लेकिन काफी समझाने और सफ़ाई का महत्व बताने के बाद अब लोग घरो का कचरा एक जगह इकठ्ठा कर गाव के बाहर फेकते है। इससे गलिया व नालिया साफ-सुथरी हो रही है। ग्राम प्रधान रमेश प्रसाद ने बताया कि गांव के साथ ही प्राथमिक विद्यालय भी सफ़ाईकर्मी भूरेलाल के प्रयास से स्वच्छ व साफ-सुथरा बन गया है।भूरेलाल ने विद्यालय की बाउन्ड्री के अंदर चारो से पौधरोपण करते हुए लोगों को वृक्षारोपण कर उसको संरक्षित करने का संदेश दिया।

अमावस्या पर लाखों श्रृद्धालुओं ने लगाई पुण्य की डुबकी

फतेहपुर। जनपद में भादों मास की अमावस्या को लेकर बुधवार को भोर के चार बजे से गंगाठ स्नान करने वाले लाखों श्रृद्धालुओं ने विभिन्न गंगा घाटों पर डुबकी लगाई। गंगा स्नान के बाद विभिन्न मंदिरों में देवी-देवताओं का जलाभिषेक कर मंगलकामनाएं की। करीब आधा सैकड़ा गंगा घाटों पर श्रृद्धा की डुबकी लगाने का सिलसिला सांयकाल जारी रहा।

मलवां विकास खण्ड के शिवराजपुर गंगा घाट मे स्नान के लिये बड़ी संख्या मे श्रद्धालु पहुचें। कोरोना संक्रमण को देखते हुए औंग पुलिस ने शिवराजपुर व कल्यानपुर थाना पुलिस ने क्षेत्र के दूधिकगार से बक्सर घाट जाने वाले श्रद्धालुओं को रोकने के लिये बैरियल लगा दिया। बावजूद इसके गंगा स्नान के लिये जाने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ कम नही हुई। बुद्धवार को भदई अमावश्या के अवसर पर गंगा स्नान के लिये बड़ी संख्या मे श्रद्धालुओ का जुटा। इसको रोकने के लिये पहले से ही पुलिस तैनात थी। कोरोना संक्रमण के चलते गंगा स्नान व भीड़ एकत्रित होने पर प्रतिबंध था।

पुलिस ने मंगलवार को ही सूचना जारी की थी। इसके बाद भी कल्यानपुर थाना क्षेत्र के दूधिकगार से बक्सर गंगा घाट मे स्नान के लिये जाने वाले श्रद्धालु नही रुके तो पुलिस ने सख्ती बरती और वापस किया। कहीं-कहीं  पर भीड़ ने पुलिस से अनुनय विनय किया तो कही नोंक-झोंक देखने को मिली। कल्यानपुर पुलिस ने गुनीर की ओर से आने वाले व दूधिकगार से आने वाले श्रद्धालुओं को रोक लिया तो काफी लोग खेतो से पैदल व पंगडडियो का सहारा लेकर निकलने लगे फिर भी पुलिस ने किसी को जाने नही दिया।

दूसरी ओर औंग थाना पुलिस ने शिवराजपुर से ही गंगा जाने के लिये रास्ते मे रोक लगाया। कुछ बाइक सवार बैरियर पार कर जाने का प्रयास करते रहे। सुबह से ही शिवराजपुर से लालखेड़ा गंगा मे स्नान करने जाने वाले श्रद्धालुओ की आस्था कोरोना पर भारी पड़ती दिखी। शिवराजपुर मे अब तक ऐसी भीड़ नही देखी गई थी। पहले पुलिस ने पांडु नदी से ही लोगो को वापस किया। बक्सर मे स्नान करने  जा रहे लोग भी इसी ओर मुड़कर आ गये जिससे पुलिस दोपहर 12 बजे पूरी तरह से बैरियर हटाने पर मजबूर हो गई।

जिले के मलवां थाना क्षेत्र के देवमई, कोटिया, आदमपुर आदि गंगा घाटों पर स्नान के लिए भारी भीड़ जुटी रही। पुलिस की शख्ती श्रृद्धालुओं के आगे कमजोर पड़ गई। मलवां पुलिस ने आदमपुर गंगा घाट पर जम कर वाहनों से जुर्माना वसूल किया। भिटौरा के उत्तर वाहिनी गंगा घाटों पर भोर के चार बजे गंगा स्नान का शुरू हुआ सिलसिला सांयकाल तक जारी रहा। इसी तरह असनी, नौबस्ता गंगा आदि गंगा घाटों पर भारी भीड़ उमड़ रही थी।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button