बिहार: हिंदू नववर्ष के जुलूस के दौरान भागलपुर में दो समुदायों के बीच हिंसा, आधा दर्जन पुलिसकर्मी जख्मी

- in बिहार, राज्य

बिहार के भागलपुर जिले में एक धार्मिक जुलूस के दौरान गाना बजाने के मुद्दे पर दो समुदायों के लोगों के बीच हुई झड़प में आधा दर्जन पुलिस वाले और तीन आम लोगों को जख्मी हो गए हैं.

भागलपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मनोज कुमार ने बताया कि यह घटना नाथनगर पुलिस थाना इलाके में हुई. इस इलाके में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अरिजीत चौबे की अगुवाई में बीजेपी, आरएसएस और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं का एक जुलूस निकला था. नए विक्रम संवत वर्ष की पूर्वसंध्या पर निकाले गए इस जुलूस की शुरुआत बुधनाथ मंदिर से हुई और पूरे शहर से होते हुए यह नाथनगर पहुंचा.

एसएसपी ने बताया कि कुछ स्थानीय लोगों ने गाने बजाने पर आपत्ति जताई जिसकी वजह से तनाव पैदा हो गया. लेकिन पुलिस के दखल के बाद जुलूस आगे बढ़ा.

बहरहाल, एसएसपी ने बताया कि इसके तुरंत बाद दो अलग-अलग समुदायों के स्थानीय लोगों के बीच झगड़ा हो गया, गोलियां चली, पथराव हुए और दुकानों एवं वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया.

मेरठ के ये मुन्नाभाई को 2 लाख में लोगो को बना देते थे एमबीबीएस, बदल देते थे आंसरशीट

मौके पर पहुंची पुलिस टीम का हिस्सा रहे पुलिसकर्मियों की बांह पर गोलियां लगी लेकिन उन्हें खतरे से बाहर बताया जा रहा है. तीन स्थानीय निवासी को चोट लगने से वे जख्मी हो गए जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया.

इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है. हालात तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है. एसएसपी ने कहा कि मामले की जांच जारी है और उपद्रवियों की पहचान कर गिरफ्तारियां की जाएंगी.

 

You may also like

कांग्रेस का दलित-सवर्ण कार्ड में नहीं विश्वास : मदन मोहन

पटना। तकरीबन 11 महीने के लंबे अंतराल के बाद