क्या आपको जींस में इस छोटी पॉकेट का असली कारण पता है? नहीं ना, तो जाने रहस्य

- in ज़रा-हटके

युवाओं को जींस पहनना खासा पसंद होता है, लडका हो या लडकी जींस आज हर आयु वर्ग के लोगों के पहनावे में शामिल है। शुरूआती दौर में जींस को मजदूरों के लिये बनाया गया था। लेकिन आज जींस मजदूरों से निकलकर ग्रामिण शहरी , गरीब,अमीर सभी पहनते है। जींस में दो पॉकेट आगे और दो पॉकेट पीछे होती है लेकिन अगर गौर से देखें तो आगे की जेब में एक छोटी पॉकेट और होती है जिसके पास छोटे मेटल्स बटन लगे होते है। आज कई लोग इस जेब का उपयोग अलग अलग काम के लिये करते है लेकिन क्या आप जानते है जींस में आखिय यह जेब क्यों बनायी गयी थी।

क्या आपको जींस में इस छोटी पॉकेट का असली कारण पता है? नहीं ना, तो जाने रहस्य

सैंकडो साल पूराना है इतिहास
जींस का इतिहास 100 साल से भी पुराना है जींस और इतना ही पुराना है जींस की इस पांचवी पॉकेट का इतिहास। जींस बनाने की शुरूआत लेवी स्ट्रास कंपनी ने की थी जीसे आज लिवाईस के नाम से जाना जाता है। लिवाईस ने इस बात की जानकारी दी है कि 18 वीं शताब्दी की शुरूआती जीन्स में भी ये छोटी पॉकेट थी। शुरूआती जींस में 4 पॉकेट होती थी जिसमें दो पीछे और एक आगे और आगे की जेब में ये छोटी पॉकेट। इस छोटी जेब को काउब्वाय को ध्यान में रखकर बनाया गया था।

काउबॉयज के हिसाब से बनी थी यह पॉकेट
18 वीं सदी में काउबॉयज अपनी वेस्टकोट की जेब मे पॉकेट वॉच रखते थे। जब लिवाईस ने जींस बनायी तो उन्होनें काउबॉयज के पॉकेट वॉच को रखने के लिये इस छोटी पॉकेट को इंट्रोड्यूज किया। यह पॉकेट इसलिये भी फायदेमंद थी कि इसमें पॉकेट वॉच को सूरक्षित रखा जा सकता था और स्क्रेच और टूटने का डर नहीं रहता था। पॉकेट वॉच के हिसाब से बनी इस पॉकेट में वॉच हिलती भी नहीं थी और उससे आसानी से टाईम भी देखा जा सकता था। इसलिये 18 वीं सदी से ही इस तरह की पॉकेट प्रचलन में थी।

इस बच्चे ने छोटी सी उम्र में कर दिया ऐसा कांड, खूब वायरल हो रहा है यह विडियो…

आज समय बदल गया और लोगों ने उस तरीके की पॉकेट वॉच रखना भी बंद कर दिया। लेकिन आज भी यह छोटी पॉकेट जींस में आती है बस इसका उपयोग लोग अब वॉच रखने की जगह सिक्के चाबीयां और छोटा मोटा सामान रखने के काम में लेते है। तो अब आप भी आप जींस पहनने के साथ ही उसका इतिहास और इस छोटी जेब के जानकारी अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है और अपने ज्ञान की वाहवाही पा सकते है।

loading...

You may also like

Video: समलैंगिक महिलाओं के रिश्ते की खूबसूरत कहानी, जिसे देखकर हो जायेंगे हैरान

समय के साथ प्यार की परिभाषा भी बदल गयी