CWG 2018: 12 साल बाद एक बार फिर मेडल जीतने के इरादे से उतरेगी भारतीय महिला हॉकी टीम

- in खेल

पिछले कुछ अर्से से बेहतरीन प्रदर्शन कर रही भारतीय महिला हॉकी टीम 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में गुरुवार को वेल्स के खिलाफ अपने अभियान का आगाज करेगी तो उसका इरादा 2006 के बाद पहली बार मेडल झोली में डालने का होगा.

CWG 2018: 12 साल बाद एक बार फिर मेडल जीतने के इरादे से उतरेगी भारतीय महिला हॉकी टीमपिछली बार पांचवें स्थान पर रही भारतीय टीम ने आखिरी बार 2006 मेलबर्न कॉमनवेल्थ गेम्स में ब्रॉन्ज मेडल जीता था. भारत का इन खेलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2002 में मैनचेस्टर में रहा, जब इंग्लैंड को हराकर उसने पीला तमगा अपने नाम किया था.

पिछले साल एशिया कप जीतने के बाद खेलों से ठीक पहले दक्षिण कोरिया दौरे पर अपने से बेहतर रैंकिंग वाले प्रतिद्वंद्वी को हराने वाली भारतीय टीम के हौसले बुलंद हैं.

पूल ए में उसका सामना दुनिया की दूसरे नंबर की टीम इंग्लैंड, अफ्रीकी चैंपियन दक्षिण अफ्रीका के अलावा मलेशिया से भी होगा.

वर्ल्ड रैंकिंग में दसवें स्थान पर काबिज भारतीय टीम ने रियो ओलंपिक 2016 में आखिरी स्थान पर रहने के बाद से अब तक अपने प्रदर्शन में काफी सुधार किया है.

पिछले साल जापान के काकामिगाहारा में खेले गए एशिया कप में चीन को फाइनल में शूटआउट में 5-4 से हराकर भारत ने दूसरी बार गोल्ड मेडल जीता.

इसके साथ ही हरेंद्र सिंह की टीम ने वर्ल्ड कप 2018 में जगह पक्की कर ली. दो साल पहले जूनियर पुरुष टीम को लखनऊ में वर्ल्ड कप दिलाने वाले कोच हरेंद्र को इस बार पोडियम फिनिश का यकीन है.

You may also like

कुछ इस अंदाज में इस क्रिकेटर ने मनाया अपना जन्मदिन…

एशिया कप में गुरुवार को खेले गए छठे