Home > राज्य > दिल्ली > CTI ने लिखा PM को पत्र, दिल्ली में सीलिंग से राहत के लिए सामने रक्खी ये 3 मांग

CTI ने लिखा PM को पत्र, दिल्ली में सीलिंग से राहत के लिए सामने रक्खी ये 3 मांग

देश की राजधानी दिल्ली में सीलिंग के मसले पर सरकार और एजेंसियों की नाकामी से परेशान व्यापारी अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राहत देने की अपील कर रहे हैं. चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंड्स्ट्री (सीटीआई) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मदद की गुहार लगाई है.

CTI ने लिखा PM को पत्र, दिल्ली में सीलिंग से राहत के लिए सामने रक्खी ये 3 मांगसीटीआई के कन्वीनर बृजेश गोयल के मुताबिक अब केवल केंद्र सरकार और पीएम नरेंद्र मोदी ही दिल्ली के व्यापारियों को सीलिंग से राहत दिला सकते हैं. सीटीआई ने दिल्ली के तमाम व्यापारियों और ट्रेड एसोसिएशन्स से अपील की है कि वो सभी अपनी अपनी संस्थाओं की तरफ से एक पत्र प्रधानमंत्री को भेजें. बृजेश गोयल का कहना है कि सीलिंग के मुद्दे पर 5 लाख पत्र प्रधानमंत्री को भेजने का टारगेट तय किया गया है.

चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंड्स्ट्री ने प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखकर अपील की है कि वह जल्द से जल्द सीलिंग के मामले में हस्तक्षेप करते हुए व्यापारियों को राहत दिलाएं. इस पत्र के जरिए प्रधानमंत्री के सामने मांग रखी गयी है कि –

1. सीलिंग पर एक साल की रोक लगे.

2. जिन 4000 से अधिक दुकानों और प्रोपर्टीज को सील किया गया है, उनको मानवीय आधार पर तुरंत डीसील किया जाए.

3. इसके साथ ही एक जॉइंट कमेटी बनाई जाए जिसमें मॉनिटरिंग कमेटी, आरडब्लूए, एमसीडी, डीडीए, दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार के प्रतिनिधियों के साथ-साथ व्यापारी भी शामिल हों.

सीटीआई की मांग है कि जॉइंट कमेटी के जरिए दिल्ली के विकास एवं मास्टर प्लान का एक विस्तृत रोडमैप तैयार हो और दिल्ली की व्यवस्था को सुधारने पर विचार करें. सीटीआई का यह भी कहना है कि केंद्र सरकार के अटॉर्नी जनरल सुप्रीम कोर्ट में इस मुद्दे की पैरवी करते हुए व्यापारियों का पक्ष भी मजबूती से रखें.

Loading...

Check Also

3 साल की बच्ची से की थी क्रूरता की हदें पार, इस हाल में दबोचा गया आरोपी

3 साल की बच्ची से की थी क्रूरता की हदें पार, इस हाल में दबोचा गया आरोपी

गुरुग्राम सेक्टर-65 स्थित झुग्गी में रहने वाली तीन साल की बच्ची की 11 नवंबर को …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com