‘विधवा पेंशन’ दिलाने की आड़ में 13 लोगों से बनाता रहा संबंध, सभी को हुआ एड्स

वैसे तो हमारे देश में एड्स के मामले काफी कम देखने को मिलते हैं। लेकिन, जब किसी एक ही गांव के 13 लोग अचानक इस बिमारी का शिकार हो जाये तो यह खबर बन जाती है। मामला गोरखपुर शहर के भटहट ब्लाक का है। जहां एक साथ 13 लोगों को एड्स होने की खबर की चर्चा हर जगह हो रही है। 13 लोगों को एक साथ एड्स होना खबर नहीं है, बल्कि इनको यह जानलेवा बिमारी कैसे हुई ये खबर है। दरअसल, इन सबके एड्स होने की एक ही वजह ‘रिश्वत’ है। जी हां इन सभी लोगों को एड्स होने की वजह किसी की मजबुरी का फायद उठाकर उससे रिश्वत मांगना है। यह खबर पढ़कर आपको इन लोगों से दया नहीं बल्कि नफरत होगी।

‘विधवा पेंशन’ दिलाने की आड़ में 13 लोगों से बनाता रहा संबंध, सभी को हुआ एड्स

 

तो आइये आपको बताते हैं कि इन सभी को एड्स कैसे हुआ। करीब छह साल गोरखपुर शहर के भटहट ब्लाक में एक 24 बरस की दुल्हन ब्याह कर आई थी। इस दुल्हन का पति मुंबई में किसी कारखाने में काम करता था। दुल्हन की किस्मत इतनी खराब थी कि शादी के तीन साल बाद ही उसके पति की मौत हो गई। पति कि मौत की वजह बीमारी थी। लेकिन, किसी को भी इस बात का पता नहीं चला की उसको बीमारी क्या थी। इस महिला का कोई बच्चा हुआ नहीं था।

OMG: इस गाँव में सुहागरात के समय पूरा गाँव बैठा रहता है रूम के बाहर, वजह है चौंका देने वाली

पति की मौत और अकेले पूरी जिंदगी गुजारने की बात सोचकर महिला ने सरकार से कुछ सहायता लेनी चाही। महिला ने सोचा कि राशन कार्ड और विधवा पेंशन मिल जाए, तो जिंदगी थोड़ी आसान हो जाये। इसी आस में महिला ने अपने गांव के रोजगार सेवक से मदद मांगी। रोजगार सेवक महिला को प्रधान के पास ले गया फिर वहां से प्रधान ने उसे सेक्रेटरी से मिलवाया। इन तीनों के साथ 9 और बिचौलिये आ गए। फिर क्या था शुरु हुआ अपनी परंपरा के मुताबिक ‘रिश्वत’ मांगने का दौर। सबने अपने-अपने तरीके से महिला से रिश्वत मांगी।

 

लाचार बेबस महिला के पास ‘रिश्वत’ के नाम पर बस अपना जिस्म था, तो उसने सबको दे दिया। फिर 13 लोगों ने उससे संबंध बनाये। लेकिन, इन 13 लोगों को भ्रष्टाचार की ऐसी सजा मिली की अब कोई रिश्वत लेने से पहले हज़ार बार सोचेगा। इस विधवा महिला का कार्ड और पेंशन के काजग बनवाने के नाम पर उसका यौन शोषण करने वाले इन सभी लोगों को एड्स जैसी भयंकर बिमार हो गई। इस बात का पता तब चला जब महिला बीमार हुई जिसके बाद सारे झोलाछाप डॉक्टर नाकाम रहे और खून की जांच कराई गई। इस जांच में पता लगा कि महिला एचआईवी संक्रमित यानि एड्स से पीडित है।

इस बात पता चलते ही प्रधान और बाकि लोगों का भी जांच कराया गया। लेकिन, रिपोर्ट देखते ही सभी के होश उड़ गए। कोई भी ये नहीं सोच सकता था कि वो जिस रिश्वत के मजे ले रहे हैं, वो उनकी जान ले लेगी। हालांकि, इन लोगों को इसके बाद भी यकीन नहीं हुआ तो महिला और अपनी जांच बीआरडी अस्पताल में कराई वहां भी एड्स की पुष्टि हो गई। इसके बाद महिला की लाचारी और बेबसी का फायदा उठाने वाले प्रधान, सेवक, सेक्रेटरी और बाकि लोग इस जानलेवा बिमारी से पीडित हो गए। अब वो रिश्वत नहीं बल्कि अपनी जिंदगी के बाकी दिन गिन रहे हैं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button