CoronaVirus के कारण अर्थव्यवस्था चौपटः IMF प्रमुख ने माना- दुनिया आर्थिक मंदी की चपेट में

कोरोना वायरस संक्रमण ने पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था को चौपट कर दिया है. देश-दुनिया में उद्योग-धंधे बंद है. कई देशों में लॉकडाउन है. इसका असर हमारी अर्थव्यवस्था पर बहुत गहरा पड़ रहा है. तेजी से गिरती अर्थव्यवस्था पर अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने चिंता जताई है.
अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष की प्रमुख किस्टलीना जॉर्जीवा ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी से वैश्विक अर्थव्यवस्था मंदी की ओर बढ़ रही है और विकासशील देशों की मदद के लिये बड़े पैमाने पर वित्त पोषण की जरूरत होगी.
अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष की प्रमुख किस्टलीना जॉर्जीवा ने ऑनलाइन संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘यह साफ है कि हम मंदी में प्रवेश कर रहे हैं. मौजूदा स्थिति 2009 में वैश्विक वित्तीय संकट से ज्यादा खराब है.’ जॉर्जीवा ने कहा कि दुनिया भर में आर्थिक गतिविधियां अचानक से ठप होने के साथ उभरते बाजारों को 2,500 अरब डॉलर के वित्त पोषण की जरूरत होगी. पूर्व मुख्य सांख्यिकीविद प्रणव सेन ने चेतायाः प्रवासी मजदूरों को भोजन उपलब्ध नहीं कराया गया तो हो सकते हैं दंगे
प्रवासी मजदूरों की समस्या के लिए होगा राज्य आपदा राहत कोष का उपयोग, सरकार ने बदले नियम हालांकि उन्होंने यह भी कहा, ‘हमारा मानना है कि यह आंकड़ा कम है. अबतक 80 से अधिक देशों ने मुद्राकोष से आपात सहायता का आग्रह किया है.’ उन्होंने कहा, हम 2021 में एक रिकवरी का अनुमान लगा सकते हैं. वास्तव में, एक बड़ा परिवर्तन हो सकता है, लेकिन केवल तभी जब हम हर जगह वायरस को रोकने में सफल होते हैं नकदी की समस्याओं को दिवालियेपन का मुद्दा बनने से रोकते हैं.
बता दें कि पिछले साल दिसंबर में चीन में कोरोना वायरस का पहला मामला आया था. और अब तक 183 देश इसकी चपेट में हैं. अब तक 5,39,360 लोग COVID-19 से संक्रमित हुए हैं. 24,663 लोगों की मौत हो चुकी है और 1,12,200 लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button