Corona Virus: इस देश में पास खड़े होने पर 6 माह की जेल और 5 लाख से ज्यादा का जुर्माना

Corona Virus के चलते पूरी दुनिया में लोग अलग थलग रहने को मजबूर हैं। सोशल डिस्टेंस को बनाए रखने के लिए लोगों से लगातार अपील की जा रही है। कई देशों में हालातों को देखते हुए लॉकडाउन भी किया गया हैं ताकि लोग घरों में रहें और बाहरी संपर्क से बचें।
तो वहीं कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच सिंगापुर में एक नया नियम लागू किया गया है। इसके अनुसार एक-दूसरे के पास खड़े होने पर 6 माह की कैद या $7,000 यानी 5 लाख 24 हजार रुपयों का जुर्माना देना होगा।
क्यों पड़ी जुर्माने की जरूरत
लाइलाज कोरोना वायरस से बचने के अलावा फ़िलहाल दुनिया के पास और कोई हल नहीं है। इसी बचाव को देखते हुए दुनियाभर के देशों ने अलग-अलग तरीके अपनाएं हैं। जैसे सिंगापुर हेल्थ मिनस्ट्री ने लोगों के करीब खड़े होने पर सजा और जुर्माने का ऐलान किया है। इस बारे में सिंगापुर हेल्थ मिनस्ट्री ने एक सर्कुलर जारी करते हुए कहा कि कोरोना का असर कम करने और लोगों को उसके संक्रमण से बचाने के लिए सभी पब्लिक प्लेस पर लोगों को आपस में डिस्टेंट मेंटेन करना होगा। सरकार ने लोगों से दूर बैठने और खड़े होने की अपील की है।

नए नियमों के अनुसार
सिंगापुर में घोषित नए नियमों के अनुसार, अगर कोई भी व्यक्ति तीन फीट की दूरी से कम, लोगों के पास खड़ा होगा तो उस पर नए नियमों के आधार पर सजा या जुर्माना लगाया जायेगा। इसके अलावा सिंगापुर हेल्थ मिनस्ट्री ने लोगों के बैठने के लिए निश्चित सीट भी निर्धारित की है जिस पर दूरी के हिसाब से निशान लगा होगा और लोगों को उसी पर बैठना होगा। इसके अलावा सिंगापुर की सरकार ने बार और नाइट क्लबों को भी बंद कर दिया और 10 से अधिक लोगों के एक साथ खड़े रहने पर रोक लगा दी है। साथ ही किसी भी बड़े आयोजन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया गया है।
लॉकडाउन से बेहतर तरीका
दक्षिण कोरिया की तरह सिंगापुर भी यही मानता है कि लॉकडाउन लगाना जरुरी नहीं। इससे लोगों को आर्थिक नुकसान तो होगा ही साथ ही उनकी जिंदगियां रुक जायेंगी जो उनके अधिकारों के खिलाफ है। इस बारे में सिंगापुर मल्टी मिलिट्री टास्क फोर्स ने स्कूल-कॉलेज, रेस्त्रां या दफ्तर में दो लोगों के बीच कम से कम 1 मीटर की दूरी मेंटेन करने को कहा है। वहीँ अगर अगर कोई भी व्यक्ति अपनी जगह छोड़कर किसी के पास जाता है या 1 मीटर के तय दायरे को क्रॉस करता है तो उसे सजा दिए जाने का ऐलान किया जा चूका है। सिंगापुर में ये नियम फिलहाल 30 अप्रैल तक के लिए लागू किया गया है।
सिंगापुर भी सेकंड स्टेज में
तमाम कोशिशों के बाद भी सिंगापुर में कोरोना वायरस कहर बाकी देशों की तरह ही बना हुआ है। यहां पहला मामला 23 जनवरी को आया था और अब तक यहां 732 केस पॉजिटिव पाए गये हैं। एक रिपोर्ट की माने तो सिंगापुर के आंकड़े किसी दूसरें चीन से सटे देश के मुकाबले काफी कम है।
सिंगापुर ने कोरोना से लड़ने के लिए जल्दी ही प्रयास करना करना शुरू कर दिया था। यहां पर ज्यादा से ज्यादा लोगों की जांच की गई और यहां क्वेरेंटाइन के बेहद कड़े नियम हैं, जिन्हें मानना कानून है। लेकिन फिर भी सिंगापुर कोरोना की दूसरी स्टेज में पहुंच चुका है। ऐसे में सरकार और भी कड़े कदम उठा रही है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button